1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. रेल मंत्रालय का भारतीय रेलवे को बड़ी सौगात, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने किया ‘भारत गौरव’ ट्रेनों का ऐलान; जानें खासियत

रेल मंत्रालय का भारतीय रेलवे को बड़ी सौगात, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने किया ‘भारत गौरव’ ट्रेनों का ऐलान; जानें खासियत

Railway Ministry's big gift to Indian Railways; रेल मंत्रालय का भारतीय रेलवे को बड़ी सौगात। रेलवे पर्यटन के लिए ट्रेनों का तीसरा खंड 'भारत गौरव' ट्रेन शुरू करेगा। रेल मंत्री ने दी अहम जानकारियां।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : भारतीय रेलवे लगातार अपनी सुविधाओं में नए-नए बदलाव कर रहा है। जिससे यात्रियों को फायदा मिल सके। इसी कड़ी में आज रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने एक बड़ा ऐलान किया है। रेल मंत्री ने कहा है कि यात्री, माल ढुलाई खंड के बाद रेलवे पर्यटन के लिए ट्रेनों का तीसरा खंड ‘भारत गौरव’ ट्रेन शुरू करेगा। आपको बता दें कि रेल मंत्री ने आज इसकी जानकारी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दी।

 

इसके साथ ही उन्होंने इंडियन रेलवे के पैसेंजर और फ्रेट वर्टिकल के बाद टूरिज्म सेगमेंट का भी ऐलान किया है। इसके लिए लगभग 190 ट्रेन आवंटित की गई हैं।

जानें भारत गौरव ट्रेन की खासियत

आपको बता दें कि भारत गौरव ट्रेन भारत की संस्कृति, विरासत को प्रदर्शित करने वाली थीम पर आधारित होगी। बता दें कि भारत गौरव ट्रेन का संचालन निजी क्षेत्र और आईआरसीटीसी दोनों द्वारा किया जा सकता है और टूर ऑपरेटर द्वारा इन ट्रेनों का किराया तय किया जाएगा।

रेल मंत्री ने दी अहम जानकारियां

रेल मंत्री ने बताया कि आज से ही इसके लिए एप्लीकेशन या आवेदन मंगाए जाने शुरू किए जा रहे हैं। हमें अभी तक इस तरह के इनीशिएटिव के लिए अच्छा रिस्पॉन्स मिला है।

 

स्टेकहोल्डर्स इन ट्रेनों का नवीनीकरण करेंगे और चलाएंगे जबकि रेलवे इन ट्रेनों को मेंटेनेंस या रखरखाव, पार्किग और अन्य सुविधाओं को मुहैया कराएगा।

पूरी तरह से नया सेगमेंट

अश्विनी वैष्णव ने कहा कि आप इसे रेगुलर ट्रेन सर्विसेज की तरह ना देखें और ये सामान्य ट्रेन सर्विस नहीं है। भारत गौरव ट्रेनों का मुख्य उद्देश्य भारत में पर्यटन को बढ़ावा देना है और इसके कई तरह के आयाम हैं।

सुधार की हमेशा गुंजाइश रहती है

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि हमने इसके लिए अध्य्यन किया है और जब हम संस्कृति के किसी पहलू की बात करते हैं तो इसके लिए कई संवेदनशील बातें होती हैं। हमें निश्चित तौर पर अपने इस प्रयास के तहत डिजाइनिंग, खाने और पहनावे के साथ अन्य बातों पर ध्यान देकर उन्हें अपनाना होगा। हमें इस प्रक्रिया में सीखते हुए आगे बढ़ना होगा और इस प्रक्रिया में कोई भी आयाम पत्थर की लकीर नहीं है और जरूरत पड़ने पर इसमें सुधार की हमेशा गुंजाइश रहेगी जिससे हम यात्रियों को बेहतर से अधिक सुविधाएं मुहैया करा पाएंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...