1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Omicron के बढ़ते खतरे के बीच यूपी में लागू हुआ नाइट कर्फ्यू, इन राज्यों में भी हो सकता है लागू, लॉकडाउन की संभावना!

Omicron के बढ़ते खतरे के बीच यूपी में लागू हुआ नाइट कर्फ्यू, इन राज्यों में भी हो सकता है लागू, लॉकडाउन की संभावना!

Night curfew implemented in UP amid growing threat of Omicron, may be implemented in these states also; Omicron के बढ़ते खतरे के बीच यूपी में लागू हुआ नाइट कर्फ्यू। उत्तर प्रदेश के अलावा इन राज्यों में लागू हो सकता है लॉकडाउन। जानिए क्या है ओमिक्रोन के लक्षण।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली: देश के कई राज्यों में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के बढ़ते दहशत के बीच उत्तर प्रदेश में भी नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया गया है। जो रात 11 से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा। वहीं, शादी- बारात के आयोजनों में कोविड प्रोटोकॉल के साथ 200 लोगों की अनुमति होगी। आपको बता दें कि यह नाइट कर्फ्यू 25 दिसंबर यानी की कल से लागू रहेगा। इस बाबत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उच्चस्तरीय टीम-09 को दिशा-निर्देश दे दिए हैं।

बाजारों में “मास्क नहीं, तो सामान नहीं”

बाजारों में “मास्क नहीं, तो सामान नहीं” के संदेश के साथ व्यापारियों को जागरूक करने के निर्देश दिए गए हैं। सड़कों, बाजारों में हर किसी के लिए मास्क अनिवार्य है। देश के किसी भी राज्य या विदेश से यूपी की सीमा में आने वाले हर एक व्यक्ति की ट्रेसिंग-टेस्टिंग के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही बस, रेलवे और एयरपोर्ट पर अतिरिक्त सतर्कता बरती जाएगी।

प्रदेश में बीते 24 घंटों में हुई इतने सैम्पल की जांच

प्रदेश में बीते 24 घंटों में 1 लाख 91 हजार 428 सैम्पल की जांच हुई, जिसमें 49 नए संक्रमितों की पुष्टि हुई है। प्रदेश में कुल एक्टिव कोविड केस की संख्या 266 है, जबकि 16 लाख 87 हजार 657 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। शुक्रवार को 37 जिलों में एक भी कोविड मरीज नहीं मिला।

मध्य प्रदेश में एक भी केस नहीं, लेकिन लागू नाइट कर्फ्यू

बता दें कि इससे पहले मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया था। ओमिक्रोन की संभावित लहर को देखते हुए मध्य प्रदेश नाइट कर्फ्यू लगाने वाला पहला राज्य है। यहां भी रात 11 से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा। खास बात ये है कि मध्य प्रदेश में omicron का एक भी केस सामने नहीं आया है।

यूपी के अलावा इन राज्यों में नाइट कर्फ्यू

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के अलावा दिल्ली और मध्य प्रदेश भी नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया गया है। मध्य प्रदेश में नहीं है एक भी केस।

इन राज्यों में भी लागू हो सकता है नाइट कर्फ्यू

वहीं महाराष्ट्र, गुजरात और तेलंगाना में नाइट कर्फ्यू लगने की संभावना तेज हो गई है। क्योंकि ओमिक्रोन के मामले में महाराष्ट्र नंबर वन पर है। जबकि अन्य राज्यों में भी ओमिक्रोन के नये मामले सामने आ रहे है।

पहले से भिन्न हैं कोरोना के लक्षण

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में मेडिसिन के प्रोफेसर सर जॉन वेल ने एक रेडियो चैनल से बातचीत में बताया कि ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित लोगों में जो लक्षण देखने को मिले हैं, वे पिछले वेरिएंट से कुछ भिन्न होते हैं। संक्रमितों में बंद नाक, गले में खराश, मायलगिया और लूज मोशन जैसे लक्षण भी देखे जा रहे हैं, जिनपर लोगों को विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है।

काफी संक्रामक है कोरोना का यह नया वैरिएंट

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक ओमिक्रॉन संक्रमितों में ज्यादातर लक्षण माइल्ड देखे जा रहे हैं, इसके गंभीर मामले फिलहाल नहीं देखे गए हैं, हालांकि ओमिक्रॉन को हल्के में लेने की गलती नहीं करनी चाहिए। यह वैरिएंट काफी अधिक संक्रामक है, ऐसे में इससे बचाव के उपाय करते रहना बहुत आवश्यक है। कुछ रिपोर्टस में दावा किया जा रहा है कि ओमिक्रॉन वैरिएंट, डेल्टा और मूल सार्स-सीओवी-2 वायरस की तुलना में लगभग 70 गुना अधिक तेजी से संक्रमण फैला सकता है।

ओमिक्रॉन के क्या हैं लक्षण

भारत में ओमिक्रॉन वेरिएंट का पहला मामला तंजानिया से आए एक व्यक्ति में पाया गया। इसके बाद जिन पांच लोगों में ओमिक्रॉन कंफर्म हुआ, उनमें प्रमुख रूप से गले में खराश, कमजोरी और बदन दर्द के लक्षण देखे गए। हालांकि तीनों लक्षण बहुत हल्के थे। दक्षिण अफ्रीकी डॉक्टर ने ओमिक्रॉन के जो लक्षण चिन्हित किए, वे पहले के वेरिएंट से बिल्कुल अलग थे। कई मरीजों पर विश्लेषण करने के बाद पाया गया कि ओमिक्रॉन मरीजों में सामान्य सर्दी की परेशानी आम है जबकि और कोई भी लक्षण पहले के वायरस से नहीं मिलते हैं।

ओमिक्रॉन से क्या है बचाव (precaution) का तरीका

वैज्ञानिकों ने अगाह किया है कि भले ही ओमिक्रॉन फिलहाल बहुत ज्यादा घातक नहीं दिख रहा है लेकिन इसकी संक्रमण दर की गंभीरता से इंकार नहीं किया जा सकता है। इसलिए हर हाल में सतर्कता की जरूरत है। ओमिक्रॉन वेरिएंट से बचने के लिए सभी सरकारी गाइडलाइन का पालन करें। मास्क को सही तरीके से लगाएं। भीड़-भाड़ वाली जगहों से बचें। पर्याप्त वेंटिलेशन की व्यवस्था करें। हैंड हाइजीन का ख्याल रखें और हर हाल में वैक्सीन लगवाएं।

लॉकडाउन की संभावना तेज

सूत्रों की मानें तो, ओमिक्रोन के बढ़ते केस के बीच एक बार फिर देश के कई राज्यों में लॉकडाउन की संभावना तेज हो गई है। जिससे देश के कई हिस्सों में लॉकडाउन लग सकता है। हालांकि इसे लेकर अभी तक किसी सरकार की ओर से किसी तरह का बयान सामने नहीं आया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...