1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. 18 घंटे में NHAI ने 25.54 किलो मीटर लंबी सड़क बनाकर बनाया रिकॉर्ड, दर्ज होगा यहां…

18 घंटे में NHAI ने 25.54 किलो मीटर लंबी सड़क बनाकर बनाया रिकॉर्ड, दर्ज होगा यहां…

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली: आज आपको कहीं भी जाना हो तो उसके लिए ज्यादातर लोग सड़क माध्यम चुनते हैं। एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचने में अच्छी सड़क हो तो लोगो का समय भी बचता है, इसके साथ-साथ कम ईंधन में भी लोग गंतव्य तक पहुंच जाते हैं। इतनी ही नहीं लोग बिना थके, बिना रुके अपनी यात्रा संपन्न कर लेते हैं। आपके यात्रा को मंगलमय बनाने में नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया NHAI हमेंशा तत्पर रहता है। इसी के साथ NHAI ने सिर्फ 18 घंटे में 25.54 किलो मीटर सिंगल लेन सड़क का निर्माण कर रिकॉर्ड अपने नाम किया है।

आपको बता दें कि स्ट्रेच सड़क महाऱाष्ट्र के विजयपुर और शोलापुर के बीच एनएच-52 पर फोर लेन हाईवे पर बनाई गई है। यह हाईवे भी निर्माणाधीन है। इसी पर 18 घंटे में 25 किलोमीटर से ज्यादा की सिंगल स्ट्रेच सड़क बनाई गई। इतने कम समय में इतनी लंबी सड़क बनाना आधुनिक तकनीक और काम करने वाले लोगो की इच्छा शक्ति के बल पर पूरा हो सका।

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने इस उपलब्धि पर एनएचएआई को सोशल मीडिया पर सड़क की तस्वीर शेयर करके बधाई दी है। गडकरी ने कहा कि इस उपलब्धि को लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज करवाया जाएगा।

नितिन गडकरी ने इस प्रोजेक्ट में काम कर रहे इंजीनियरों, अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई देते हुए कहा कि “उनकी कड़ी मेहनत, ईमानदारी और लगन की वजह से ही यह उपलब्धि हासिल हो सकी है।“ विजयपुर और सोलापुर के बीच 110 किलोमीटर लंबी 4-लेन हाईवे का निर्माण किया जा रहा है, जिसे अक्टूबर 2021 तक पूरा किया जाना है।

यह हाईवे बेंगलुरु, विजयपुर, औरंगाबाद और ग्वालियर को आसानी से जोड़ेगा। आपको बता दें कि इस हाइवे के माध्यम से विजयपुर और सोलापुर के बीच सफर का समय कम करने में मदद मिलेगी। इससे पहले दिल्ली-मुंबई 8-लेन एक्सप्रेसवे पर पटेल इन्फ्रास्ट्रक्चर ने 24 घंटे में सबसे लंबी कंक्रीट की सड़क निर्माण का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। जिसके बाद भारतीय इंजीनियरों और सड़क निर्माण में लगे दूसरे कर्मचारियो की काफी तारीफ हुई थी।

भारत सरकार एक बड़ी परियोजना ‘भारत माला’ के तहत कई ग्रीनफील्ड और इकोनॉमिक कॉरिडोर का निर्माण कर रही है। इस कॉरिडोर के निर्माण से देश में परिवहन का समय और खर्च बचेगा। इसके साथ ही दिल्ली से मुंबई के बीच बनाए जा रहे इस एक्सप्रेसवे पर गाड़ियां 120 किलोमीटर की रफ्तार से चल सकेंगी।

1,275 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेसवे को 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे को भारत माला प्रोजेक्ट में शामिल किया गया है। भारत माला प्रोजेक्ट के तहत देशभर में 28 हजार किलोमीटर लंबे एक्सप्रेसवे और हाईवे का निर्माण किया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...