1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. यूपी सरकार ने जारी की नई कोरोना गाइडलाइन…यहां धारा 144 लागू

यूपी सरकार ने जारी की नई कोरोना गाइडलाइन…यहां धारा 144 लागू

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट- पल्लवी त्रिपाठी

उत्तर प्रदेश : कोरोना मामलों का ग्राफ एक बार फिर ऊपर की ओर जाने लगा है । देश भर में पिछले 24 घंटों में 35,871 नए मामले सामने आए हैं । जिसके चलते केंद्र और राज्य सरकार अलर्ट मोड में आ गयी है । कोरोना महामारी को लेकर महाराष्ट्र और पंजाब में जनता कर्फ्यू के बाद उत्तर प्रदेश में भी नई गाइडलाइन जारी कर दी गयी है ।

मुख्य सचिव ने इस संबंध में सभी जिलों के जिलाधिकारियों, मंडलायुक्तों और स्वास्थ्य विभाग को निर्देश जारी कर दिया है । उन्होंने कहा- कोरोना संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों से हवाई या रेलयात्रा के माध्यम से यूपी में प्रवेश करने वाले सभी यात्रियों की रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर एंटीजन जांच की व्यवस्था कराई जाए। उस दौरान किसी भी यात्री में लक्षण पाए जाने पर आरटीपीसीआर की जांच के लिए नमूने को प्रयोगशाला में भेजा जाए। नई गाइडलाइन में ये निर्देश जारी किए गए हैं-

कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग पर जोर

यूपी सरकार की ओर से जारी नई गाइडलाइन के मुताबिक, रेलवे स्टेशन पर बाहर से आने वाले सभी यात्रियों की सघन जांच कराई जाए । कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाने पर यात्रियों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग कराई जाए। इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिया गया है ।

नोएडा में 30 अप्रैल तक धारा 144

वहीं, नई गाइडलाइन में उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर में धारा 144 लागू कर दी गयी है । बता दें कि तत्काल निर्देश के अनुसार 30 अप्रैल तक दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 लागू की गई है। जिसके तहत किसी भी प्रकार के अनधिकृत विरोध प्रदर्शनों पर रोक लगाई गई है। साथ ही कोविड-19 प्रोटोकॉल पर लोगों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है।

लाठी-रॉड लेकर घूमने पर पाबंदी

प्रदेश में जारी की गयी नई गाइडलाइन के अनुसार, सार्वजनिक स्थानों पर किसी को लाठी, रॉड या शस्त्रों के साथ घूमने की अनुमति नहीं दी गई है । इसके अलावा पुलिस उपायुक्त ने बताया कि अवधि के दौरान लोगों को आदेश के अनुसार, सार्वजनिक स्थानों पर COVID-19 प्रोटोकॉल का पालन करना होगा ।

फ्रंट लाइन वर्कर्स से लें जानकारी

नए गाइडलाइन में अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों के बारे मे जानकारी फ्रंट लाइन वर्कर्स से लें । दरअसल, हाल ही में दस्तक अभियान शुरू किया गया था । जिसके तहत फ्रंट लाइन वर्कर्स घर-घर जाकर लोगों को जागरुक कर रहे हैं । जिसके चलते अधिकारियों को वर्कर्स से मदद लेने के निर्देश दिए गए हैं ।

निगरानी समिति का गठन

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रशासन ने निगरानी समिति का गठन करने का निर्देश दिया है । जिसके चलते संक्रमण के रोकथाम के लिए अलग-अलग मोहल्लों में निगरानी की जा सके । वहीं, ग्रामीण क्षेत्रों के लिए भी ग्राम निगरानी समिति का गठन करने के लिए कहा गया है ।

कोरोना महामारी को देखते हुए राज्य सरकार के नए गाइडलाइन को लेकर नोएडा पुलिस का कहना है कि ‘COVID-19 महामारी के बीच होली, शब-ए-बारात, गुड फ्राइडे, नवरात्रि, आंबेडकर जयंती, राम नवमी, महावीर जयंती, हनुमान जयंती जैसे आगामी त्यौहारों को देखते हुए यह प्रतिबंध लगाए गए हैं।’ वहीं, अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (कानून और व्यवस्था) आशुतोष द्विवेदी ने कहा कि इन मौकों के दौरान, असामाजिक तत्वों द्वारा कानून और व्यवस्था को बाधित करने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है, इसलिए धारा 144 लगाना जरूरी था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...