1. हिन्दी समाचार
  2. ताजा खबर
  3. CHINA LOCKDOWN: कोरोना ने एक बार फिर से मचाया कोहराम, लगा दिया गया लॉकडाउन

CHINA LOCKDOWN: कोरोना ने एक बार फिर से मचाया कोहराम, लगा दिया गया लॉकडाउन

चीन के अलग-अलग शहरों में कोराना फिर से बढ़ने लगा है। लांझू में लॉकडाउन से पहले चीन के उत्तरी और उत्तरी पश्चिमी प्रांत के कई शहरों में स्कूलों को बंद किया जाना और फ्लाइटों को स्थगित करना शुरू कर दिया गया है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

नई दिल्ली: दुनियाभर को कोरोना वायरस का संक्रमण देने वाले देश चीन में फिर से कोरोना का कहर सामने आ रहा है। चीन में 40 लाख की जनसंख्या वाले शहर लानझाउ ( Lanzhou) में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए फिर से लॉकडाउन लगा दिया गया है। लानझाउ शहर चीन के उत्तर पश्चिम में स्थित है और वहां पर कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए चीन की सरकार ने वहां पर लॉकडाउन लगाने का आदेश जारी किया है। उधर, रूस में राष्ट्रपति पुतिन ने नवंबर महीने की शुरुआत में एक हफ्ते तक कार्यस्थलों को बंद रखने के सरकार के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। वहीं न्यूजीलैंड में कोरोना के नए मामले तेजी से बढ़े हैं।

लानझाउ शहर में आपात कार्य को छोड़ किसी को भी घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है, सभी तरह के सामाजिक कार्यक्रमों पर रोक लगा दी गई है और  आवासीय तथा व्यावसायिक जगहों में किसी को बाहर निकलने की अनुमति नहीं है। सोमवार को चीन में कोरोना वायरस के 29 नए मामले सामने आए हैं। आपको बता दें कि 2 साल पहले अक्तूबर और नवंबर के दौरान चीन में ही कोरोना वायरस के शुरुआती मामले सामने आए थे और वहीं से फिर दुनियाभर में कोरोना वायरस का संक्रमण फैला।

चीन में अब तीन साल से अधिक उम्र के बच्चों को कोविड-19 के टीके लगाए जाएंगे। यहां करीब 76 प्रतिशत आबादी का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है और सरकार कोविड के बढ़ते मामलों पर काबू के लिए विभिन्न सख्त कदम उठा रही है। हाल के दिनों में कम से कम पांच प्रांतों में स्थानीय और प्रांतीय स्तर की सरकारों ने नोटिस जारी कर घोषणा की थी कि तीन से 11 वर्ष तक के बच्चों को टीके लगाने की आवश्यकता होगी। चीन में टीकाकरण अभियान का दायरा ऐसे समय बढ़ाया जा रहा है जब देश के कुछ हिस्सों में नए मामलों पर काबू के लिए प्रतिबंध लगाए गए हैं। काफी हद तक पर्यटन पर निर्भर उत्तर-पश्चिमी प्रांत गांसू ने कोविड के मामले मिलने के बाद सोमवार को सभी पर्यटक स्थलों को बंद कर दिया। आंतरिक मंगोलिया के कुछ हिस्सों में लोगों को कोरोना के प्रकोप के कारण घरों में ही रहने का आदेश दिया गया है।

रूस में पहले से ही कोरोना के नए मामले तेजी से बढ़े हैं वहीं नए मामलों के बढ़ने की बड़ी वजह यह वैरिएंट बन सकता है। नया वैरिएंट अंततः डेल्टा की जगह ले सकता है, हालांकि प्रक्रिया धीमी होने की संभावना है। राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने इस सप्ताह नवंबर की शुरुआत में एक सप्ताह के लिए कार्यस्थल को बंद करने के सरकारी प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।  पिछले 24 घंटों में रूस में कोरोनोवायरस से 1,028 लोगों की मौत हो गई जबकि कोरोना संक्रमण के एक दिन में कुल 34,073 नए मामले सामने आए।

महामारी शुरू होने के बाद से न्यूजीलैंड में भी कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। यहां कोरोना के नए वैरिएंट के कुल 109 मामले दर्ज किए गए। सबसे ज्यादा मामले ऑकलैंड में पाए गए हैं। ऑकलैंड में डेल्टा वैरिएंट के चलते दी महीने से ज्यादा समय तक के लिए लॉकडाउन लगाना पड़ा था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...