1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. देश-दुनिया के इतिहास में आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ, पढ़ें

देश-दुनिया के इतिहास में आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ, पढ़ें

इतिहास से अच्छा शिक्षक कोई दूसरा हो ही नहीं सकता। इतिहास सिर्फ अपने में घटनाओं को नहीं समेटे होता है बल्कि इन घटनाओं से भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं। हर गुजरता दिन इतिहास में कुछ घटनाओं को जोड़कर जाता है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

इतिहास से अच्छा शिक्षक कोई दूसरा हो ही नहीं सकता। इतिहास सिर्फ अपने में घटनाओं को नहीं समेटे होता है बल्कि इन घटनाओं से भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं। हर गुजरता दिन इतिहास में कुछ घटनाओं को जोड़कर जाता है।

क्रांतिकारी भगत सिंह और बटुकेश्‍वर दत्त ने 8 अप्रैल 1929 में आज ही के दिन दिल्ली असेंबली बम फेंका था। भारतीय क्रांतिकारियों भगत सिंह  और बटुकेश्वर दत्त ने दुनिया के दिखा दिया था कि क्रांतिकारी देश के हिंसक अपराधी नहीं बल्कि बहरी ब्रिटिश हुकूमत को जगाने वाले आजादी के दीवाने थे दोनों क्रांतिकारियों ने अंग्रेजी हुकूमत को ही हिलाकर नहीं रख दिया था  बल्कि हजारों युवाओं में आजादी की अलख भी जगा दी थी।

भगत सिंह और बटुकेश्वर दत्त ने एक नहीं दो बम फेंके थे लेकिन उन्होंने इस बात का खास ख्याल रखा कि कोई भी हताहत ना हो और ऐसा हुआ भी. बम फेंकने के बाद दोनों ने वहां से फरार होने की बिलकुल कोशिश नहीं की और वहां असेंबली में पर्चे फेंक कर लागातार आजादी के नारे लगाते रहे और अपनी गिरफ्तारी दी।

अंग्रेज सरकर दिल्ली की असेंबली में -पब्लिक सेफ्टी बिल- और -ट्रेड डिस्प्यूट बिल- जैसे दमनकारी कानूनों को पास कराकर लागू करने की तैयारी में थी।  ट्रेड डिस्प्यूट बिल पास किया जा चुका था जिसमें मजदूरों द्वारा की जाने वाली हर तरह की हड़ताल पर पाबंदी लगा दी गई थी, लेकिन पब्लिक सेफ्टी बिल पर अध्यक्ष विट्ठलभाई पटेल को अपना फैसला सुनाना था।

इस बिल में सरकार को संदिग्धों पर बिना मुकदमा चलाए उन्हें हिरासत में लेने का अधिकार दिया जाना था। भगत सिंह और अन्य क्रांतिकारी जानते थे कि ये दोनों बिल पास ना हों ऐसा हो ही नहीं सकता। वे यह भी जानते थे कि उनके बम इन कानूनों को बनने से नहीं रोक पाएंगे। इसकी वजह यह थी कि नेशनल असेंबली में ब्रिटिश सरकार के समर्थकों की कमी नहीं थी।

इसके अलावा वायसराय को कानून बनाने के असाधारण अधिकार मिले हुए थे। भारत-पाकिस्तान विभाजन के बाद 8 अप्रैल 1950 में आज ही के दिन दोनों देशों ने अपने- अपने देशों में रह रहे अल्पसंख्यकों के अधिकारों को सुरक्षित करने और भविष्य में दोनों देशों के बीच युद्ध की संभावनाओं को ख़त्म करने के मकसद से समझौता किया था।  भारत और पाकिस्तान के बीच 8 अप्रैल 1985 में सीमा युद्ध शुरू, इसे कश्मीर के दूसरे युद्ध के नाम से भी जाना जाता है।

8 अप्रैल को जन्मे व्यक्ति इतिहासकार हेमचंद्र राय चौधरी का 8 अप्रैल  1892 में जन्म हुआ था।  संयुक्त राष्ट्र के 7वें महासचिव कोफी अन्नान का 8 अप्रैल 1938 में जन्म हुआ था।

8 अप्रैल को हुए निधन प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम 1857 विद्रोह के सिपाही मंगल पांडे को 8 अप्रैल 1857 को फांसी दी गई थी।  भारत के राष्ट्रीय गीत वंदेमातरम के रचयिता बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय का 8 अप्रैल  1894 को निधन हुआ था ।

देश दुनिया के इतिहास में 8 अप्रैल की तारीख पर दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार हैं:

1857 : ब्रिटिश सरकार के खिलाफ बगावत की चिंगारी भड़काने वाले बैरकपुर रेजीमेंट के सिपाही मंगल पांडेय को फांसी दे दी गई।

1894 : भारत के राष्ट्रीय गीत बंदे मातरम् के रचयिता बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय का कलकत्ता में निधन।

1929 : क्रांतिकारी भगत सिंह और बटुकेश् वर दत्त ने दिल्ली असेंबली हॉल में बम फेंका और गिरफ्तारी दी।

1950 : भारत और पाकिस्तान के बीच लियाकत-नेहरू समझौता। यह समझौता दोनों देशों में रह रहे अल्पसंख्यकों के अधिकारों को सुरक्षित रखने और भविष्य में दोनों देशों के बीच युद्ध की संभावनाओं को ख़त्म करने के मकसद से किया गया था।

1973 : स्पेन के चित्रकार पाब्लो पिकासो का निधन। इन्हें 20वीं शताब्दी का संभवत: सबसे प्रभावी चित्रकार माना जाता है।

2013 : ब्रिटेन की पूर्व प्रधानमंत्री मार्गेरेट थैचर का लंदन में निधन । वह ग्रेट ब्रिटेन ही नहीं किसी भी यूरोपीय देश की पहली महिला प्रधानमंत्री थीं और 20वीं शताब्दी में ब्रिटेन की एकमात्र प्रधानमंत्री थीं, जिन्होंने तीन बार लगातार यह पद संभाला।

2020 : देश में कोरोना संक्रमित मामले 5,700 के पार, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा स्थिति ‘सामाजिक आपातकाल’ जैसी। जापान में बौद्ध धर्म को मानने वाले लोग इस दिन को भगवान बुद्ध के जन्मदिन के तौर पर मनाते हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...