1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. देश-दुनिया के इतिहास में आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ, पढ़ें

देश-दुनिया के इतिहास में आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ, पढ़ें

बेहद ख़ास शो  आज का इतिहास आपका स्वागत है। आज के इतिहास में हम आपको ले चलेंगे 20 अप्रैल के सफर पर 20 अप्रैल की तारीख देश-दुनिया के इतिहास में काफी अहम रही है। 20 अप्रैल  के दिन कई महान लोगों ने इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

बेहद ख़ास शो  आज का इतिहास आपका स्वागत है। आज के इतिहास में हम आपको ले चलेंगे 20 अप्रैल के सफर पर 20 अप्रैल की तारीख देश-दुनिया के इतिहास में काफी अहम रही है। 20 अप्रैल  के दिन कई महान लोगों ने इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया।

वैसे ही कई महान शख्सियत ने जन्म लिया चलिए 20 अप्रैल  के सफर पर इतिहास  से अच्छा शिक्षक कोई दूसरा हो ही नहीं सकता. इतिहास सिर्फ अपने में घटनाओं को नहीं समेटे होता है बल्कि इन घटनाओं से भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं। हर गुजरता दिन इतिहास में कुछ घटनाओं को जोड़कर जाता है।

श्री इन्द्र कुमार गुजराल 20 अप्रैल  1997 में भारत के 12वें प्रधानमंत्री बने थे। 20 जून 1975 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल की घोषणा कर दी। उनकी सरकार ने आम नागरिकों के अधिकारों को स्थगित कर दिया तथा मीडिया पर पहरे बिठा दिए। इंदिरा गांधी की सरकार में इंदर कुमार गुजराल सूचना एवं प्रसारण मंत्री थे. उसी दौर में इंदिरा गांधी ने दिल्ली के रामलीला मैदान में एक जनसभा का आयोजन किया. सोनिया गांधी के साथ ही युवावय राहुल व प्रियंका भी इस सभा में मौजूद थे। लेकिन सरकार के टीवी चैनल दूरदर्शन पर इस सभा का प्रसारण नहीं किया गया।

बतौर प्रधानमंत्री गुजराल ने भारतीय विदेश नीति को दो महत्वपूर्ण सिद्धांत दिए, जिसके लिए उन्हें सदैव याद किया जाता रहेगा. एक अपने गुजराल सिद्धांत के लिए, जो उन्होंने देवेगौड़ा सरकार में विदेश मंत्री रहते हुए प्रस्तुत किया था. इसे भारतीय विदेश नीति में मील का पत्थर माना जाता है. दूसरा भारी अंतरराष्ट्रीय दबाव के बावजूद गुजराल ने अक्टूबर 1996 में व्यापक परमाणु परीक्षण निषेध संधि अर्थात सीटीबीटी पर हस्ताक्षर करने से इंकार कर दिया।

अमेरिकी मीडिया ने 20 अप्रैल 2012 में भारत के अग्नि-5 मिसाइल के सफल परीक्षण पर कहा है कि इससे भारत को उसके पड़ोसी देश चीन के बराबर में खड़ा कर दिया है। 20 अप्रैल को जन्मे व्यक्ति अंग्रेजी के प्रसिद्ध कवि जॉन इलियट का जन्म 20 अप्रैल 1592 में हुआ था । थॉमस एलियट, जिसे टी.एस. एलियट, एक अमेरिकी-अंग्रेजी कवि, नाटककार, साहित्यिक आलोचक और संपादक थे।

कविता में आधुनिकतावादी आंदोलन के एक नेता, उनके कार्यों ने उस दिन के कई स्थापित ब्रिटिश कवियों को प्रभावित किया। उन्नीसवीं शताब्दी के उत्तरार्ध में संयुक्त राज्य अमेरिका में जन्मे, उन्हें बचपन से ही साहित्य से रूबरू कराया गया था। उर्दू के जनक मौलवी अब्दुल हक का 20 अप्रैल  1878 में जन्म हुआ था।

वह एक विद्वान और भाषाविद् थे। उनहें बाबा-ए-उर्दू के नाम से भी जाना जाता है । मौलवी अब्दुल हक के उर्दू भाषा की सेवा करने के लिए जाना जाता है उर्दू, भारतीय, फारसी और अरबी भाषाओं से लगाव रखने के लिए विकसित किया है। उनहोंने बी.ए. 1894 में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से डिग्री प्राप्त की हक अंजुमन-ए-हिमायत-ए-इस्लाम में भी सक्रिय थे जो बुद्धिजीवियों की एक मुस्लिम सामाजिक-राजनीतिक संस्था है।

20 अप्रैल को हुए निधन 20 अप्रैल 1970 में भारतीय गीतकार और शायर शकील बदायूँनी का निधन हुआ था । शकील बदायुनी उर्दू अदब के बड़े नामों में से एक हैं, शकील बदायुनी वो शायर जो अपनी शायरी और गीतकार के तौर पर पहचाने जाते है- ऐ मोहब्बत तेरे अंजाम पे रोना आया जाने क्यों आज तेरे नाम पे रोना आया। वे मुशायरों में गर्म सूट और टाई, ख़ूबसूरती से संवरे हुए बाल और चेहरे की आभा से वे शायर अधिक फ़िल्मी कलाकार नज़र आते थे। शकील साहब को मोहब्बत का शायर कहा जाता था। अब भी उनकी शायरी सुनी और गुनगुनाई जाती है। ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया जाने क्यूं आज तिरे नाम पे रोना आया।

 

1592: अंग्रेजी के प्रसिद्ध कवि जॉन इलियट का जन्म.

1611: विख्यात उपन्यासकार विलियम शैक्सपियर के नाटक ‘मैकबेथ’’ का पहला ज्ञात मंचन हुआ.

1712 : जहांदार शाह दिल्ली की गद्दी पर बैठा. इस मुगल सम्राट ने 1713 तक शासन किया। वह बहादुरशाह का बड़ा पुत्र था।

1889 : जर्मन तानाशाह अडोल्फ हिटलर का जन्म.

1946 : संयुक्त राष्ट्र की पूर्ववर्ती संस्था लीग ऑफ नेशन्स भंग की गई.

1953 : कोरिया और संयुक्त राष्टृ सेना के बीच बीमार युद्ध बंदियों का आदान प्रदान हुआ. रिहा किए गए 100 संयुक्त राष्ट्र सैनिकों में ब्रिटेन के 12, अमेरिका के 30, दक्षिण कोरिया के 50 और कुछ अन्य देशों के सैनिक थे.

1960 : एयर इंडिया ने लंदन की अपनी पहली बोइंग 707 उड़ान के साथ जेट युग में प्रवेश किया.

1972: अपोलो 16 अंतरिक्ष यान छह घंटे तक इंजन की समस्या से प्रभावित रहने के बाद आखिरकार चंद्रमा पर उतरा.

1974 : सत्तर के दशक में आंतरिक हिंसा से बुरी तरह प्रभावित उत्तरी आयरलैंड के संघर्ष में मरने वालों की संख्या 1000 पहुंची.

1997: इंद्र कुमार गुजराल देश के 12वें प्रधानमंत्री बने.

1999 : अमेरिका के डेनवर शहर के एक स्कूल में दो छात्रों ने अंधाधुंध गोलियां चलाकर 25 लोगों की जान ले ली. घटना में 15 अन्य लोग घायल हुए.

2010 : मैक्सिको की खाड़ी में स्थित गहरे पानी के तेल भंडार में विस्फोट से इतिहास का सबसे बड़ा तेल रिसाव हुआ.

2011 : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के उपग्रह प्रक्षेपण यान ‘पीएसएलवी’ ने तीन उपग्रहों को सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में स्थापित किया.

2020 : दुनिया भर में कोरोना वायरस के संक्रमण से मरने वालों की संख्या 1,65,216 हो ग

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...