1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. आज भी कांपता है पाकिस्तान इस भारतीय सैनिक से, खून से लथपथ था शरीर…

आज भी कांपता है पाकिस्तान इस भारतीय सैनिक से, खून से लथपथ था शरीर…

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली: 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे मनाया जाता है, दुनिया इस दिन को प्यार दिवस के रुप मे बड़े खुशी-खुशी मनाती है। साल 2019 में 14 फरवरी के दिन भारत में भी प्यार दिवस मनाया जा रहा था। इसी बीच देश के सिरमौर जम्मू-कश्मीर से एक ऐसी खबर खबर सामने आई, जिससे पूरा देश शोक में डूब गया। आपको बता दें कि CRPF का एक काफिला श्रीनगर-जम्मू हाइवे से गुजर रहा था। सीआरपीएफ के 78 बसों के साथ यह काफिला गुजर रहा था। इस 78 बसों में 2500 जवान आपनी ड्यूटी पर जा रहे थे। दोपहर 3 बजे सीरआरपीएफ काफिले के एक बस में जैश ए मोहम्मद के एक आतंकी ने विस्फोटकों से लदी कार भिड़ा दी।

आपको बता दें कि कार में करीब 350 किलो आरडीएक्स था, जैसे ही कार काफिले के एक बस में भिड़ी इतना भयानक विस्फोट हुआ कि बस के परखच्चे उड़ गये। इसी के साथ हमारे 40 जवान शदीह हो गये। एक साथ 40 जवानों की शहादत होने से पूरा देश स्तब्ध हो गया था। जिसके बाद प्रधानमंत्री ने देश को संबोधित करते हुए आश्वस्थ किया कि कश्मीर में जवानों ने जो कुर्बानी दी है, वह बेकार नहीं जायेगी।

इसके बाद भारत पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने की योजना बनाने लगा। हमले के एक दिन बाद इंडियन एयरफोर्स के तत्कालीन चीफ बीएस धनोआ ने हमले की प्रतिक्रिया में एयरस्ट्राइक करने की योजना सरकार के सामने रख दी। जैसे ही धवोना ने मोदी सरकार के सामने ये योजना रखी, उसी वक्त सरकार ने इस योजना को हरी झंडी दे दी।

मोदी सरकार से हरी झंड़ी मिलने के बाद इडियंन एयरफोर्स ने 16 फरवरी से लेकर 20 फरवरी तक एलओसी के पास सर्विलांस रखना शुरू कर दिया। एयरफोर्स के ड्रोन विमानों के जरिए इलाके में चल रहे आतंकी शिविरों के बारे में जानकारी इकट्ठा करनी शुरू कर दी गई। एयरफोर्स के साथ देश की खुफिया एजेंसियां भी इस काम में लगी थीं।

22 फरवरी को नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर अजीत डोभाल ने सरकार को एयरस्ट्राइक के टारगेट की जानकारी दी। डोभाल ने बताया कि सेना के पास किन-किन जगहों पर हमला करने का ऑप्शन है। 22 फरवरी को एयरफोर्स ने इस मिशन को सक्रिय कर दिया। इस मिशन को अंजाम देने के लिए इंडियन एयरफोर्स ने अपने वन स्कॉड्रन टाइगर्स और सेवन स्कॉड्रन बैटल ऐक्सेज़ को लगाया था। इस मिशन के लिए मिराज स्कॉड्रन के 12 जेट को तैयार रहने का निर्देश दे दिया गया।

24 फरवरी को मिशन का ट्रॉयल किया गया, इसके दो दिन बाद 26 फरवरी को मिशन को अंजाम देने का प्लान बना। 26 फरवरी 2019 की सुबह 3 बजे के करीब भारतीय वायु सेना के 12 मिराज विमानों ने LOC से 80 किमी अंदर घुसकर पाकिस्तान के इलाके में आतंकी संगठन जैश के सबसे बड़े अड्डे को तहस-नहस कर दिया था।

वायु सेना के इस अटैक में अनुमान लगाया गया कि 350 आतंकी मारे गए। भारतीय वायु सेना के आक्रमण के बाद बौखलाए पाकिस्तान ने अपने लड़ाकू विमानों को भारत की सीमा में घुसाने की कोशिश की। लेकिन पाकिस्तान का ये मंसूबा भी फेल हो गया। इंडियन विंग कमांडर अभिनंदन को भेद पाना पाकिस्तान के पूरी टूकड़ी के बस की बात नहीं थी। भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन ने मिग-21 से उड़ान भरी और पाकिस्तान के मंसूबे पर पानी फेरते हुए पाकिस्तान की सीमा के अंदर तक उसके विमान को खदेड़ कर वापस आ रहे थे। इसी दौरान उन्होने पाकिस्तान के F-16 को मार गिराया। जिसके बाद उनकी विमान भी क्रैश होकर पाकिस्तान की सीमा में गिर गया।

बता दें कि अभिनंदन ने पाकिस्तान का जो एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराया था, वो एक एडवांस्ड फाइटर प्लेन था। उसे अमेरिका ने बनाया था। जबकि भारत का मिग-21 रूस में बना 60 साल पुराना विमान था। यह भारतीय वायु सेना के साथ 1970 से जुड़ा है। बावजूद इसके अभिनंदन ने F-16 को मार गिराया था।

पाकिस्तान ने अभिनंदन को पकड़ लिया और उन्होने इसकी पुष्टी भी कर दी। आपको बता दें कि भारत पाकिस्तान पर अभिनंदन को छोड़ने का दबाव बनाने लगा। पाकिस्तान ने पहले तो आना-कानी की। जिसके बाद भारत ने अभिनंदन के लिए पाकिस्तान को युद्ध की चेतावना दे दी। युद्ध की चेतावनी मिलते ही पाकिस्तान डर गया। उसने अभिनंदन को छोड़ने का फैसला किया। आपको बता दें कि पाकिस्तान ने अभिनंदन को 58 घंटे तक अपने कब्जे में रखा था।

युद्ध से डरे पाकिस्तान ने आज के ही दिन 1 मार्च साल 2019 को वाघा बॉर्डर पर अभिनंदन को भारत को सौंप दिया। पाकिस्तान करीब 9 घंटे तक रिहाई को रोके रखा। पहले पाकिस्तान बोला 1 मार्च को दोपहर 12 बजे छोड़ देंगे। इसके बाद बोला शाम के 4 और 6.30 बजे रिहा कह देंगे। अंत में पाकिस्तान ने अभिनंदन को रात 9: 20 पर वाघा बॉर्डर पर रिहा किया।

अभिनंदन को छोड़ने पाकिस्तान के विदेश कार्यालय की निदेशक डॉ. फरिहा बुगती आई थीं। इस जाबाज के हौसले ने पाकिस्तान को आईना दिखा दिया। अभिनंदन के इस साहस पर भारत ने उन्हे वीर चक्र से सम्मानित किया। जिसके बाद अभिनंदन भारत के भी हीरो बन गये। अभिनंदन की मूंछ को लोग नकल कर फैशन बना दिया।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...