1. हिन्दी समाचार
  2. क्राइम
  3. चर्चित बाटला हाउस एनकाउंटर कांड में कोर्ट ने आतंकी को ठहराया दोषी, इंडियन मुजाहिदीन से है संबंध

चर्चित बाटला हाउस एनकाउंटर कांड में कोर्ट ने आतंकी को ठहराया दोषी, इंडियन मुजाहिदीन से है संबंध

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्य़म दुबे

नई दिल्ली: देश का बहुचर्चित कांड बाटला हाउस एनकाउंटर मामले में सोमवार को दिल्ली की एक अदालत ने बड़ा फैंसला सुनाया है। अदालत ने इंडियन मुजाहिद्दीन के आतंकवादी आरिज खान को दोषी ठहरा दिया है। कोर्ट ने इस दौरान कहा कि “यह साबित हो गया है कि एनकाउंटर के वक्‍त खान भागने में कामयाब हो गया था। अदालत ने खान को आईपीसी की धारा 186, 333, 353, 302, 307, 174A, 34 के तहत दोषी पाया है।” कोर्ट ने दोषी को आर्म्‍स ऐक्‍ट की धारा 27 के तहत भी दोषी करार दिया गया है।

आपको बता दें कि इन कोर्ट ने इन धाराओं में दोषी पाया है, दोषी को कितनी सजा होगी, अदालत इसकी घोषणा 15 मार्च को दोपहर 12 बजे करेगी। दोषी आरिज खान को कथित एक दशक तक फरार रहने के बाद फरवरी 2018 में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने उसे गिरफ्तार किया था। इस दौरान कोर्ट ने कहा कि “यह साबित हो चुका है कि आरिज खान और उसके सहयोगियों ने जान-बूझकर सरकारी कर्मचारियों को चोट पहुंचाई। अदालत ने यह भी कहा कि खान ने इंस्‍पेक्‍टर एमसी शर्मा पर गोली चलाई जिससे उनकी जान गई।“

इस मामले में पिछले साल सितंबर में दोषी ने कोर्ट में कहा था कि उसे झूठे मामले में फंसाया गया है। आपको बता दें कि पटियाला हाउस कोर्ट में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संदीप यादव के समक्ष अंतिम दलील के दौरान उसने कहा था कि उस समय उसके फ्लैट से संबंधित होने या वहां उसकी उपस्थिति साबित करने के लिए कोई सबूत नहीं है।

आइये जानते हैं क्या है मामला?

13 सितंबर 2008 के दिन दिल्ली के कनाट प्लेस, इंडिया गेट, करोल बाग और ग्रेटर कैलाश में सीरियल बम ब्लास्ट हुए थे। इस बम धमाके में 26 लोगों की मौत हुई थी। वहीं 130 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। दिल्ली पुलिस को पता चला कि बम ब्लास्ट के पीछे आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन का हाथ है।

इस प्रकरण में दिल्ली पुलिस 19 सितंबर को डियन मुजाहिद्दीन के पांच आतंकी के रहने की सूचना पर बाटला हाउस के एक मकान में छापेमारी की। इस दौरान दोनों ओर से फायरिंग हुई और एनकाउंटर शुरू हुआ। इस टीम को लीड कर रहे इंस्पेक्टर मोहन चंद्र शर्मा की मौत हो गई थी। इस एनकाउंटर के बाद इस मामले में बहुत राजनीति भी की गई है।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...