1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. उत्तराखंड में मौसम के बदलते मिजाज को लेकर सीएम धामी और गृह मंत्री शाह ने की बातचीत, मौसम विभाग ने बताया 24 घंटे में…

उत्तराखंड में मौसम के बदलते मिजाज को लेकर सीएम धामी और गृह मंत्री शाह ने की बातचीत, मौसम विभाग ने बताया 24 घंटे में…

उत्तराखंड में भारी बारिश को लेकर मौसम विभाग ने किया अलर्ट। सीएम धामी और गृह मंत्री शाह ने की बातचीत। गृह मंत्री शाह ने ली इन बातों की जानकारी।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

 

रिर्पोट: अनुष्का सिंह

 

नई दिल्ली : भगवान शिव की नगरी उत्तराखण्ड जो आए दिन मौसम कि मार झेलती रहती है। अब वहां एक और नई चुनौती सामने आ खड़ी हुई है। दक्षिण पूर्व क्षेत्रो से आती हवाओ ने उत्तराखणड़ के मिजाज़ को काफी बदल कर रख दिया है। बारिश और बर्फबारी के कारण तापमान मे काफी गिरावट देखने को मिली है। जिसके चलते मौसम वैज्ञानिकों ने अगले 24 घंटे में न केवल भारी बल्की अत्यंत भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

बता दे कि उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में सोमवार को भी बारिश जारी है। राज्य के सभी इलाकों में रुक-रुक कर बारिश लगातार हो रही है। साथ ही रविवार से मसूरी का भी यही मिजाज बना हुआ है। बारिश के साथ यहां घना कोहरा छाया हुआ है और तापमान में भी काफी गिरावट आ गई है। इसी बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से फोन पर बात की और राज्य में भारी बारिश से बचाव के लिए की जा रही तैयारियों की जानकारी ली।

शाह ने आश्वासन देते हुऐ कहा कि केंद्र सरकार द्वारा राज्य को हर संभव मदद मिलेगी। जिसकी जानकारी मुख्यमंत्री धामी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से साझा कर दी। साथ ही मुख्यमंत्री धामी ने विभिन्न क्षेत्रों में हो रही बारिश का जायजा लिया। मुख्यमंत्री ने फोन से सभी जिलाधिकारियों से बारिश की स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि जिले में बारिश और आवागमन की स्थिति की प्रत्येक घंटे की रिपोर्ट दी जाए।

 

आपको बता दे कि विभाग से मिली जानकारी के अनुसार उत्तराखंड भर में अधिकांश शैक्षणिक संस्थान सोमवार को बंद रहेंगे, जबकि राज्य के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में मंगलवार तक भारी बारिश की चेतावनी के मद्देनजर एहतियात के तौर पर ट्रेकिंग, माउंटेनियरिंग और शिविर गतिविधियों पर प्रतिबंध रहेगा। साथ ही उत्तराखंड के सभी 13 जिलों में सोमवार को भारी बारिश का अलर्ट जारी होने के बाद जिला प्रशासन की ओर से रविवार को स्कूल, कॉलेज और आंगनबाडी केंद्रों समेत शिक्षण संस्थानों को बंद करने के आदेश जारी किए गए हैं।

बता दे की बदरीनाथ और यमुनोत्री धाम में ऊंची चोटियों पर काफी बर्फबारी हुई है। साथ ही धारचूला और मुनस्यारी के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में जबरदस्त हिमपात हुआ है। गंगोत्री और यमुनोत्री हाईवे पर कई जगह मलबा आने से मार्ग बाधित हो गये हैं। बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग कलियासौड़ और सिरोबगड़ में बंद हो गया है। इस वजह से वाहनों को पौड़ी चुंगी और श्रीकोट में रोका जा रहा है। टनकपुर-पिथौरागढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग में आठ जगह मलबा आने से यातायात बंद पड़ा हुआ है।

नईटिहरी, श्रीनगर, बड़कोट, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, चमोली, टनकपुर, लोहाघाट, नैनीताल, पिथौरागढ़ सहित अधिकतर पहाड़ी और मैदानी इलाकों में रविवार से बारिश का दौर जारी है। कोटद्वार में पौड़ी हाईवे पर नाले उफान पर आ गए हैं।

वहीं दूसरी ओर लगातार पहाड़ी से मलबा गिरने के कारण श्रीनगर के चमधार में मार्ग बंद हो गया है। चारों धामों में बेहद कम संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। मौसम विभाग की चेतावनी को देखते हुए चारधाम यात्रा पर पहुंचे यात्रियों को सुरक्षित स्थानों पर रुकने को कहा गया है। हालांकि यात्रा पर रोक नहीं लगाई गई है। जिला प्रशासन के अधिकारियों को यात्रियों को सुरक्षित स्थानों पर रोकने के निर्देश दिए गए हैं। जानकीचट्टी पुलिस चौकी इंचार्ज गंभीर तोमर ने बताया कि यहां पर यमुनोत्री धाम जाने वाले करीब तीन सौ यात्री रुके हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...