1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. छत्तीसगढ़ नक्सली हमले में शहीद हुआ चंदौली का लाल, नक्सलियों से लोहा लेते समय गई जान

छत्तीसगढ़ नक्सली हमले में शहीद हुआ चंदौली का लाल, नक्सलियों से लोहा लेते समय गई जान

By Amit ranjan 
Updated Date

चंदौली : बस्तर के बीजापुर में शनिवार को नक्सलियों ने 700 जवानों को घेरकर हमला कर दिया, जिसमें 24 जवान शहीद हो गये। इनमें कोबरा बटालियन के 9, DRG के 8, STF के 6 और एक बस्तरिया बटालियन का जवान शामिल है। आपको बता दें कि नक्सलियों ने ये हमला तब किया था, जब भारतीय सुरक्षाबलों के जवान पूर्व मिली सूचना के अनुसार नक्सिलयों पर कार्रवाई करने के लिए बीजापुर की ओर रवाना हुए। जिसमें तकरीबन 2 हजार से अधिक जवान शामिल हुए थे।

आपको बता दें कि इसी टीम में एक जवान चंदौली का भी था, जो नक्सलियों से लोहा लेते शहीद हो गए। पूर्व में शहीद धर्म देव की ड्यूटी असम में थी एक हफ्ते पहले कोबरा कमाण्डो की ट्रेनिंग के लिए शहीद जवान को छत्तीसगढ़ भेजा गया था जहाँ नक्सलियों से मुठभेड़ में शहीद हो गए। जिले के नक्सल प्रभावित शहाबगंज ब्लाक अंतर्गत ठेकहा गांव के रहने वाले है। छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से लड़ते हुए शहादत की सूचना के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। वहीं गांव में मातम पसरा है।

बता दें कि छत्तीसगढ़ नक्सली हमले में शहीद जवान का नाम धर्मदेव कुमार (32) है, जो रामआश्रय गुप्ता के बडे संतान है। तीन भाइयों में धर्मदेव सबसे बड़े है। जबकि दूसरे भाई धनंजय कुमार भी सीआरपीएफ छत्तीसगढ़ में ही तैनात थे। वहीं तीसरे भाई आनन्द कुमार घर पर ही रहते है। शहीद धर्मदेव की शादी करीब एक दशक पूर्व मीना देवी से हुई थी। जिनकी दो बेटियां है। मीना 8 वर्ष व साक्षी 2 वर्ष है।

आपको बता दें कि शहीद धर्मदेव व उनके भाई धनंजय एक साथ सीआरपीएफ में 2012 में भर्ती हुए थे। उनकी ट्रेनिंग भी साथ हुई और फिलहाल वे एक साथ ही ड्यूटी पर तैनात थे। वहीं धर्मदेव की शहादत की सूचना के बाद गांव में लोगों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया है। अपने लाल के शहीद होने की खबर सुनने के बाद से ही मां-पिता और पत्नी बेसुध हो गए है। वहीं डीएम व एसपी ने शहीद के परिजनों से मिलकर  हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

बाईट – समाज सेवी रतीश कुमार

[videopress OCVghPk8]

बाईट – मृतक के भाई

[videopress dvvB79ZQ]

 

 

वहीं चंदौली डीएम ने बताया कि सीएम योगी द्वारा शहीद जवान के परिवार को 50 लाख रुपये की सहायता, एक सदस्य को नौकरी और जिले की एक प्रमुख सड़क का नाम उनके नाम पर किए जाने की घोषणा की गई है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...