1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. धान खरीद को लेकर केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, पंजाब हरियाणा में खरीदे जाएंगे धान, बदली तारीख

धान खरीद को लेकर केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, पंजाब हरियाणा में खरीदे जाएंगे धान, बदली तारीख

पंजाब और हरियाणा में धान की खरीद को लेकर केंद्र सरकार ने किसानों को बड़ा राहत दिया है और उन्होंने धान खरीद की तारीखों में फिर से बदलाव कर दिया है। आपको बता दें कि धान की खरीद की तारीख को फिर से बदलकर तीन अक्टूबर कर दिया गया है।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : पंजाब और हरियाणा में धान की खरीद को लेकर केंद्र सरकार ने किसानों को बड़ा राहत दिया है और उन्होंने धान खरीद की तारीखों में फिर से बदलाव कर दिया है। आपको बता दें कि धान की खरीद की तारीख को फिर से बदलकर तीन अक्टूबर कर दिया गया है। जिससे अब दोनों राज्यों में धान की खरीद कल से होगी। बता दें कि इस सिलसिले में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे से मुलाकात की, जिसके बाद उन्होंने तीन अक्टूबर से धान की खरीद की तारीख की घोषणा की।

दरअसल, मॉनसून में देरी की वजह से धान की खरीद की तारीख को आगे बढ़ाकर 11 अक्टूबर कर दिया गया था। पहले यह एक अक्टूबर से होनी थी। इसकी वजह से किसान नाराज हो गए थे और पंजाब-हरियाणा में बड़ी संख्या में प्रदर्शन किया था। किसान पहले से ही केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं, जिसके बाद धान खरीद पर भी प्रदर्शन शुरू कर दिया था।

 

मीडिया से बात करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि, ”मॉनसून में देरी की वजह से, केंद्र सरकार ने धान और बाजरा की खरीद की तारीख को आगे बढ़ाकर 11 अक्टूबर कर दिया था। जल्द खरीद को लेकर मांगें की जा रही थीं। अब खरीद कल से शुरू होगी।” केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने भी जानकारी दी कि हरियाणा के साथ ही पंजाब में भी कल (3 अक्टूबर) से ही खरीफ की फसलों की खरीद शुरू होगी।

मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा कि, ”हरियाणा की मंडियों में धान आ चुका है और किसान जल्द खरीद की मांग कर रहे थे। इसलिए उन्होंने केंद्रीय मंत्री चौबे से आग्रह किया कि जल्द धान की खरीद शुरू हो। इस मांग को केंद्र ने मान लिया है। किसानों की तकलीफ स्वाभाविक थी, ऐसे में निर्णय लिया गया है कल से हरियाणा में धान की खरीद शुरू होगी।” केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने किया। प्रतिनिधिमंडल में उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला व कृषि मंत्री जेपी दलाल के अलावा विधायक व सांसद भी शामिल थे।

किसानों ने की सीएम खट्टर के आवास की घेराबंदी की कोशिश

धान की खरीद की तारीख को आगे बढ़ाए जाने से किसान काफी नाराज हो गए थे। इस वजह से पंजाब, हरियाणा के बड़ी संख्या में किसान सड़कों पर उतर गए और उन्होंने सांसद और विधायकों के घरों का घेराव किया। साथ ही करनाल में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के आवास की भी घेराबंदी करने की कोशिश की गई। उग्र प्रदर्शनकारी किसानों को रोकने के लिए पुलिस-प्रशासन ने भी पूरी तैयारी कर रखी थी और सड़क पर बैरिकेड्स लगाए हुए थे। हालांकि, कुछ किसानों ने ट्रैक्टर उन बैरिकेड्स पर चढ़ा दिए और उन्हें रास्ते से हटाने की कोशिश की। किसानों के प्रदर्शन को काबू में करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...