1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. सुप्रीम कोर्ट के रोक लगाने के घंटों बाद रोका गया अतिक्रमण विरोधी अभियान, पढ़ें

सुप्रीम कोर्ट के रोक लगाने के घंटों बाद रोका गया अतिक्रमण विरोधी अभियान, पढ़ें

उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने बुधवार को दिल्ली के जहांगीरपुरी में अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाया। बुलडोजर ने इलाके में घुसकर घरों और दुकानों को तोड़ना शुरू कर दिया। इसके तुरंत बाद, सुप्रीम कोर्ट ने जहांगीरपुरी में विध्वंस अभियान पर रोक लगा दी।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने बुधवार को दिल्ली के जहांगीरपुरी में अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाया। बुलडोजर ने इलाके में घुसकर घरों और दुकानों को तोड़ना शुरू कर दिया। इसके तुरंत बाद, सुप्रीम कोर्ट ने जहांगीरपुरी में विध्वंस अभियान पर रोक लगा दी।

निगम के महापौर राजा इकबाल सिंह ने बताया कि पूरे शहर में अतिक्रमण रोधी अभियान चलाया जायेगा। उन्‍होंने बताया कि नगर निगम ने इस अभियान की योजना भी बनाई थी और इसके लिए सुरक्षा की थी लेकिन कुछ कारणों की वजह से यह कार्रवाई नहीं की जा सकी।

इस बीच विशेष पुलिस आयुक्‍त दीपेन्‍द्र पाठक ने जहांगीरपुरी में हाल ही में हुई हिंसा की स्थिति का जायजा लिया।

गुरुवार को फिर से मामले की सुनवाई होगी। ये घटनाक्रम दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में शनिवार शाम हनुमान जयंती जुलूस के दौरान सांप्रदायिक झड़पों के बाद सामने आया है। मंगलवार को, दिल्ली भाजपा प्रमुख आदेश गुप्ता ने आरोप लगाया कि जहांगीरपुरी में दंगा करने वालों ने इलाके में ‘अवैध निर्माण’ किए थे और मांग की थी कि इन्हें ध्वस्त कर दिया जाए।

पश्चिम बंगाल के हल्दिया में जहांगीरपुरी हिंसा के आरोपी गांव में दिल्ली पुलिस की टीम पहुंची. गोपाल चौक गांव के स्थानीय लोग आरोपी दिलशाद की पहचान नहीं कर पाए और कहा कि उसके पिता कई साल पहले गांव छोड़कर चले गए थे।

दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को कहा कि वह जहांगीरपुरी विध्वंस मामले की सुनवाई नहीं करेगा क्योंकि सुप्रीम कोर्ट पहले ही कदम बढ़ा चुका है।

पुलिस ने पुष्टि की कि जहांगीरपुरी में बुलडोजिंग रोक दी गई है। यह सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आया है कि अधिकारियों को विध्वंस अभियान को रोकने का निर्देश दिया जाए।

इससे पहले आज, सुप्रीम कोर्ट ने विध्वंस अभियान पर रोक लगा दी थी। हालांकि इसके बाद करीब डेढ़ घंटे तक तोड़फोड़ का अभियान चलता रहा।

माकपा नेता वृंदा करात कहती हैं, ”अवैध तोड़फोड़ से कानून और संविधान पर पानी फिर गया है। कम से कम सुप्रीम कोर्ट और उसके आदेश को तोड़ा नहीं जाना चाहिए।

दिल्ली हाईकोर्ट हिंसा प्रभावित जहांगीरपुरी में अतिक्रमण रोधी अभियान के खिलाफ दायर याचिकाओं पर बुधवार को सुनवाई करने के लिए तैयार हो गया। हालांकि, इस स्तर पर प्रक्रिया में दखल देने से उसने इनकार कर दिया है। कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश विपिन सांघी ने वकीलों को उनकी याचिकाएं दायर करने का निर्देश दिया और कहा, ‘मैं कुछ नहीं कह रहा हूं, लेकिन उन्हें  तैयार रहना चाहिए ।

नॉर्थ दिल्ली के मेयर को सुप्रीम कोर्ट के आदेश का इंतजार

नॉर्थ दिल्ली के मेयर राजा इकबाल सिंह ने जहांगीरपुरी में कहा कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश की कॉपी मिलते ही अतिक्रमण विरोधी अभियान को जल्द ही रोक दिया जाएगा।

SC के आदेश के बाद भी नहीं लगा बुलडोजर में ब्रेक

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के यथास्थिति बनाए रखने के आदेश के बावजूद उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा जहांगीरपुरी में अतिक्रमण विरोधी अभियान अभी भी जारी है।

जहांगीरपुरी: अवैध निर्माण को बुलडोजर ने किया ध्वस्त, देखें वीडियो

जहांगीरपुरी में हिंसा वाली जगह पर भी बुलडोजर चल रहा है। एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें देखा जा सकता है कि कैसे अवैध निर्माण पर एमसीडी का बुलडोजर गरज रहा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...