1. हिन्दी समाचार
  2. जरूर पढ़े
  3. पटाखे के धमाके में तड़प-तड़पकर गई मासूम की जान, दोस्तों की सिर्फ एक गलती पड़ी जिंदगी पर भारी

पटाखे के धमाके में तड़प-तड़पकर गई मासूम की जान, दोस्तों की सिर्फ एक गलती पड़ी जिंदगी पर भारी

राजस्थान के बड़बड़ गांव में पटाखे चलाते वक्त शुक्रवार को जोरदार ब्लास्ट हो गया। इसमें स्टील गिलास का टुकड़ा जाकर सीधे एक मासूम बच्चे की सीने में लग गया। बच्चे की आवाज सुनकर परिजन मौके पर पहुंचे और उसे अस्पताल ले जाने की तैयारी हुई, लेकिन पहले ही बच्चे ने दम तोड़ दिया। बच्चे की मौत के बाद पूरा गांव में कोहराम मच गया है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

झुंझुनूं: दिवाली (Diwali) के दूसरे दिन शुक्रवार को झुंझुनूं ((Jhunjhunu)) बुहाना के बड़बर गांव में एक दर्दनाक हादसा हो गया। यहां पटाखा चलाते समय एक 11 साल के बच्चे की मौत हो गई। वो दोपहर में कुछ बच्चों के साथ पटाखे चला रहा था। इसी दौरान बच्चों ने खेल-खेल में पटाखे को जलाकर स्टील के गिलास में रख दिया। जैसे ही आग लगाई तो पटाखे के साथ गिलास भी फट गया। बच्चों का कहना था कि ब्लास्ट के बाद गिलास का एक हिस्सा पास खड़े बच्चे लक्ष्य यादव (11 साल) के सीने में दिल के पास घुस गया। वो मौके पर लहूलुहान होकर गिर गया और तड़पने लगा। चीख-पुकार मची तो परिजन मौके पर पहुंचे और घायल बच्चे को लेकर अस्पताल जा रहे थे, तभी रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। डॉक्टर्स के अनुसार, हार्ट में स्टील का टुकड़ा घुसने और ज्यादा खून बहने से बच्चे की मौत हुई है। इस संबंध में परिजन ने किसी तरह की रिपोर्ट थाने में दर्ज नहीं करवाई है।

इससे पहले गुजरात में भी इसी तरह का एक मामला सामने आया था। मामला सूरत के डिंडोली इलाके का था। वहां मूलरूप से बिहार निवासी राज शर्मा परिवार समेत रहते हैं। राज ने बताया कि दिवाली का त्योहार है, इसलिए वे घर में 3 साल के बेटे शौर्य और 2 साल की बेटी के लिए शनिवार को जमीन पर पटक कर फोड़ने वाले पटाखे का पैकेट लेकर आए थे। दूसरे दिन रविवार को बेटे शौर्य ने पैकेट खोल दिया और उससे ना जाने कब कई पटाखे निगल लिए। शाम को जब अचानक तेज बुखार आया और उसकी तबीयत बिगड़ी तो कुछ समझ में नहीं आया। इसके बाद उसने उल्टियां करना शुरू कर दिया। इसी दौरान मां ने शौर्य की उल्टियों में पटाखे के टुकड़े निकलते देखे। तब जाकर पता लगा कि बेटे ने पटाखे निगल लिए हैं।

सूरत में एक सप्ताह में पटाखे से दूसरा हादसा

सूरत में 6 दिन में पटाखे से ये दूसरा हादसा है। इससे पहले यहां तुलसी दर्शन सोसायटी में 5 बच्चे सीवर के मैनहोल के ऊपर बैठकर पटाखे जला रहे थे। इसी दौरान सीवर से निकल रही गैस से आग भड़क गई और सभी बच्चे झुलस गए थे। दरअसल, सीवर के ढक्कन के नीचे से गैस लाइन निकली है, जिसमें लीकेज हो रहा था। बच्चों ने पटाखे जलाने के लिए आग जलाई तो नीचे से लपटें निकलने लगीं और बच्चे उसकी चपेट में आकर झुलस गए। यह हादसा एक घर में लगे सीसीटीवी में कैद हो गया था। गनीमत रही कि बच्चे गंभीर रूप से घायल नहीं हुए थे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...