Home Breaking News नैनीताल हाईकोर्ट की एम्स को फटकार, दिया ये बड़ा आदेश !

नैनीताल हाईकोर्ट की एम्स को फटकार, दिया ये बड़ा आदेश !

1 second read
0
35

नैनीताल। नैनीताल हाईकोर्ट ने एम्स को आदेश देते हुए कहा की रोगियों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए ही उपचार शुल्क को वसूला जाए, एक जनहित याचिका पर सुनवायी करते हुए उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजीव शर्मा और न्यायमूर्ति मनोज तिवारी की पीठ ने आदेश दिया कि एम्स, ऋषिकेश में विभिन्न बीमारियों के इलाज का खर्च गरीबों के लिए मुनासिब और उचित होना चाहिए। एम्स ऋषिकेश ने अक्टूबर 2017 में केंद्रीय स्वास्थ्य योजना (सीजेएचएस) से संबंधित उपचार शुल्क लागू किया था। यह शुल्क दिल्ली एम्स की तुलना में कई गुना अधिक था।

लोगों का कहना है की ऋषिकेश एम्स की फीस वसुली भी दिल्ली एम्स के अनुरूप ही होना था, पर यहाँ पर किसी भी तरह के इलाज का मूल्य दिल्ली एम्स से 10 गुना अधिक बढ़ा दिया गया है, बायोप्सी का शुल्क एम्स ऋषिकेश में करीब पांच हजार रुपये हो गया है, जबकि एम्स दिल्ली में यह मात्र 250 रुपये हैं। लोगों के विरोध के बाद यह शुल्क वृद्धि वापस ले ली गई थी। फिर भी लोगों को आशंका थी कि भविष्य में एम्स फिर से उपचार शुल्क में इजाफा कर सकता है। इसी आशंका के चलते वाराणसी निवासी प्रवीण कुमार सिंह ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी। और इस याचिका के चलते हाईकोर्ट ने यह आदेश दिया की अतिरिक्त वसूले गए शुल्क को मरीजों को वापस कर दिया जाए।

Share Now
Load More In Breaking News
Comments are closed.