Home ताजा खबर हाथरस केस पर बोले मार्कंडेय काटजू- सेक्स सामान्य जरूरत, बेरोजगारी है बढ़ते रेप की वजह…

हाथरस केस पर बोले मार्कंडेय काटजू- सेक्स सामान्य जरूरत, बेरोजगारी है बढ़ते रेप की वजह…

7 second read
0
4

अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहनेवाले मार्कंडेय काटजू ने अब हाथरस रेप केस में बयान दिया है। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज मार्कंडेय काटजू ने रेप केस को बेरोजगारी से जोड़ा है।

उन्होंने लिखा सेक्स पुरुष की सामान्य इच्छा है। कहा भी जाता है कि खाने के बाद अगली जरूरत सेक्स होती है।

भारत जैसे रूढ़िवादी देश में सेक्स शादी के बाद ही किया जा सकता है। लेकिन जब बड़े पैमाने पर बेरोजगारी है तो बड़ी संख्या में युवाओं की शादी नहीं होगी। क्योंकि कोई लड़की बेरोजगारी से शादी नहीं करेगी।’

 

मार्कंडेय काटजू ने आगे लिखा कि  शादी ना होने पर बड़ी संख्या में युवा लड़के सेक्स से वंचित रह जाएंगे, जबकि उनकी उम्र वह होगी जब वह सामान्य जरूरत होती है।

काटजू ने आगे लिखा कि भारत की अभी आबादी 135 करोड़ है, मतलब जिस तेजी से आबादी बढ़ी उस तेजी से नौकरियां नहीं बढ़ी. काटजू ने आगे कहा कि अगर रेप केसों को कम करना है तो बेरोजगारी को कम करना होगा।”

उन्होंने आगे लिखा, “हाथरस गैंगरेप की कड़ी निंदा करता हूं और दोषियों को सख्त से सख्त सजा की मांग करता हूं. इससे जुड़ा एक और नजरिया है, जिसपर विचार करने की जरूरत है।”

काटजू ने आगे लिखा, विभाजन के वक्त 1947 में अविभाजित भारत की आबादी करीब 42 करोड़ थी और आज अकेले भारत की जनसंख्या लगभग 135 करोड़ हो चुकी है। बढ़ती जनसंख्या की तुलना में रोजगार नहीं बढ़े हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि जून 2020 में 12 करोड़ भारतीय बेरोजगार हो गए हैं। तो क्या रेप की घटनाएं बढ़ेंगी नहीं।”

काटजू ने आगे कहा कि वह बलात्कार को जायज नहीं ठहरा रहे हैं, बल्कि इसकी निंदा करते हैं। लेकिन देश में जो हालात मौजूद हैं इसका बढ़ना तय है। अगर वाकई इस तरह की घटनाएं कम करना चाहते हैं तो देश में ऐसी सामाजिक और आर्थिक व्यवस्था तैयार होनी चाहिए जहां बेरोजगारी नहीं हो या बहुत ही कम हो।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 साल की दलित लड़की से गैंगरेप हुआ था। बाद में बुधवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उस लड़की की मौत हो गई। फिलहाल 4 आरोपी गिरफ्तार हैं और पुलिस एसआईटी मामले की आगे जांच कर रही है।

Load More In ताजा खबर
Comments are closed.