Home Breaking News जीएसटी घोटाला: कानपुर के दो व्यापारियों ने लगाया 60 करोड़ का चूना

जीएसटी घोटाला: कानपुर के दो व्यापारियों ने लगाया 60 करोड़ का चूना

0 second read
0
103

लखनऊ। कानपुर के दो व्यापारियों ने जीएसटी की पेचीदगी का फायदा उठाते हुए सरकार को 60 करोड़ का चूना लगाया है। जीएसटी इंटेलीजेंस की लखनऊ जोनल यूनिट के मुताबिक विभिन्न फर्में संचालित करने वाले कानपुर के दो कारोबारी मनोज कुमार जैन व चंद्रप्रकाश तायल द्वारा बड़े पैमाने पर व्यापारियों को बोगस बिल दिए जाने की सूचना प्राप्त हुई थी। इस पर कानपुर में इन दोनों से जुड़ीं कई फर्मों के पतों पर छापे मारे गए और पड़ताल की गई। जांच में सामने आया कि दोनों लोग फर्जी बिलों के जरिये व्यापारियों को जीएसटी के इनपुट टैक्स क्रेडिट का लाभ दिलाने का नेटवर्क चला रहे थे। जांच अधिकारियों ने बताया कि इन दोनों व्यक्तियों का अपना कोई कारोबार नहीं पाया गया, बल्कि फर्जी बिल जारी करने को ही इन दोनों ने धंधा बना लिया था।

अधिकारियों ने मुताबिक इन दोनों ने एक साल में विभिन्न फर्मों से जुड़े करीब 400 करोड़ रुपये के बोगस बिल जारी कर 60 करोड़ रुपये के आइटीसी का लाभ गलत तरीके से हासिल किया। इस दौरान सीमेंट, तारकोल, रॉ हाइड्स, प्लास्टिक ग्रेन्युल्स, बीओपीपी फिल्म्स व मेटल के बिल तो बनाए गए, पर कोई सामान सप्लाई नहीं किया गया। अधिकारियों के मुताबिक व्यापारियों को केवल आइटीसी का लाभ दिलाने के लिए ही यह बोगस बिल जारी किए गए थे। इन दोनों कारोबारियों ने अपने जीएसटी रिटर्न में जिन वस्तुओं की खरीद दिखाते हुए आइटीसी क्लेम किया है, वास्तव में वह खरीद भी कभी नहीं की गई। जांच में यह भी सामने आया कि दोनों कारोबारियों ने ट्रांसपोर्टर से मिलीभगत कर बोगस बिल्टी व कंसाइनमेंट नोट प्राप्त किए और फर्जी ई-वे बिल भी बनाए, ताकि कागजों पर माल का आवागमन दिखाया जा सके।

Load More In Breaking News
Comments are closed.