1. हिन्दी समाचार
  2. क्राइम
  3. बांग्लादेश में नहीं थम रहा बवाल, इस्लामिक कट्टरपंथियों का तांडव जारी; रंगपुर में हिंदुओं के 65 घर फूंके…

बांग्लादेश में नहीं थम रहा बवाल, इस्लामिक कट्टरपंथियों का तांडव जारी; रंगपुर में हिंदुओं के 65 घर फूंके…

The ruckus is not stopping in Bangladesh; बांग्लादेश में इस्लामिक कट्टरपंथियों का बवाल। हिंदुओं के घरों पर हमला। हिंदुओं के 20 घरों को किया आग के हवाले। दुर्गा पूजा के दौरान शुरु हुआ था हिंसा का सिलसिला।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली :  हिंदुओं के सबसे बड़े त्योहार दुर्गा पूजा से बांग्लादेश में छिड़ा बवाल अब तक थमने का नाम नहीं ले रहा है। भले ही इसे लेकर बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने उपद्रवियों को चेतावनी दी हो, इसके बावजूद भी उपद्रवियों का उपद्रव नहीं थम रहा। आपको बता दें कि एक बार इस्लामिक कट्टरपंथियों ने बांग्लादेश को हिंसा की आग झोंक दिया।

दरअसल, रविवार को रंगपुर(Rangpur) के उपजिला पीरगंज (Pirganj upazila) में हिंदुओं के 65 घर आग में फूंकने का मामला सामने आया है। बांग्लादेश के प्रमुख न्यूज मीडिया हाउस dhakatribune.com की खबर के मुताबिक, पीरगंज के एक गांव रामनाथपुर यूनियन में माझीपारा के जेलपोली(Jelepolli) में इस्लामिक कट्टरपंथियों के एक समूह ने हिंदुओं के घरों पर हमला किया और 20 घरों को जला दिया।

 

हालांकि स्थानीय संघ परिषद(local Union Parishad chairman) के अध्यक्ष के मुताबिक, उपद्रवियों ने 65 घरों को आग लगाई है। ढाका ट्रिब्यून के अध्यक्ष मोहम्मद सादकुल इस्लाम( Md Sadequl Islam) के अनुसार, उपद्रवी जमात-ए-इस्लामी और छात्र शाखा इस्लामी छात्र शिबिर( Islami Chhatra Shibir) की स्थानीय इकाई के थे।

फेसबुक पोस्ट के बाद बढ़ा था बवाल

पुलिस का कहना है कि एक हिंदू व्यक्ति ने फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट की थी। इसके बाद तनाव पैदा हो गया। तनाव बढ़ने के तुरंत बाद पुलिस मौके पर पहुंची और युवक के घर के चारों ओर पहरा दे दिया। पुलिस का कहना है कि उन्होंने उसके घर को तो बचा लिया, लेकिन उपद्रवियों ने आस-पास के करीब 15 से 20 घरों में आग लगा दी। फायर ब्रिगेड को घटना की सूचना रात करीब 9.30 बजे पता चली। इसके बाद पीरगंज, मीठापुकुर और रंगपुर शहर से दमकल की गाड़ियां आग बुझाने के लिए पहुंचीं। यहां अभी भी बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात है।

सांप्रदायिक हिंसा मामले में दर्जनों लोग गिरफ्तार

हिंदुओं के सबसे बड़े त्योहार दुर्गा पूजा के बीच सोशल मीडिया पर हमले और सांप्रदायिक नफरत फैलाने के मामले में दर्जनों लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पूजा के घरों में सुरक्षा बढ़ा दी गई थी और सीमा रक्षक बांग्लादेश(Border Guard Bangladesh troops) के सैनिकों को दो दर्जन से अधिक जिलों में भेजा गया था। शुक्रवार को दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के साथ 10 दिवसीय महोत्सव का समापन हो गया। बुधवार को चांदपुर के हाजीगंज में पूजा स्थलों पर हमले के दौरान पुलिस की गोलीबारी में कम से कम चार लोग मारे गए, जबकि नोआखली के चौमुहानी में शुक्रवार को हिंदू मंदिरों पर हुए हमले में दो लोगों की मौत हो गई। सरकार और कानून प्रवर्तन एजेंसियों ( law enforcement agencies)ने देश को अस्थिर करने के लिए इन घटनाओं को नियोजित बताया है।

 

22 जिलों में RAB और BGB के जवान तैनात

आपको बता दें कि हमलों और झड़पों के बाद चांदपुर, कॉक्स बाजार, बंदरबन, सिलहट, चटगांव और गाजीपुर में स्थिति गंभीर बनी हुई है। अधिकारियों को स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (BGB) के जवानों, पुलिस और RAB की बड़ी टुकड़ियों को तैनात करना पड़ा है। BGB के संचालन निदेशक लेफ्टिनेंट कर्नल फैजुर रहमान ने कहा कि संबंधित उपायुक्तों के अनुरोध पर और गृह मंत्रालय के निर्देश पर बीजीबी कर्मियों को तैनात किया गया था। हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ करने के आरोप में 100 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...