1. हिन्दी समाचार
  2. विदेश
  3. संबंध बनाने के बाद दर्द से तड़पती रही मॉडल, जाने वजह….

संबंध बनाने के बाद दर्द से तड़पती रही मॉडल, जाने वजह….

अमेरिका में रहने वाली एक मॉडल (US Model) जब अपनी सेक्स लाइफ (Sex Life) के बारे में बात करती है, तो उसका दर्द भी झलक जाता है। ब्रिआना एलेक्सिस जब 18 साल की थीं, तब उन्होंने पहली बार कंडोम (Condom) इस्तेमाल कर शारीरिक संबंध बनाए थे। इस दौरान, उन्हें इतना दर्द हुआ कि वह ठीक से चल भी नहीं पा रही थीं। उनके शरीर में सूजन और रैश हो गए थे। इतना ही नहीं, उन्हें इलाज के लिए हॉस्पिटल भी जाना पड़ा था।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट:पायल जोशी

अमेरिका में रहने वाली एक मॉडल (US Model) जब अपनी सेक्स लाइफ (Sex Life) के बारे में बात करती है, तो उसका दर्द भी झलक जाता है। ब्रिआना एलेक्सिस जब 18 साल की थीं, तब उन्होंने पहली बार कंडोम (Condom) इस्तेमाल कर शारीरिक संबंध बनाए थे। इस दौरान, उन्हें इतना दर्द हुआ कि वह ठीक से चल भी नहीं पा रही थीं। उनके शरीर में सूजन और रैश हो गए थे। इतना ही नहीं, उन्हें इलाज के लिए हॉस्पिटल भी जाना पड़ा था।

दरअसल ब्रिआना एलेक्सिस (Bryanna Alexis) तीन दिन तक असहनीय दर्द से गुजरी थीं। ब्रिआना को Sexually Transmitted Diseases (STD) का खतरा भी महसूस हुआ था और उन्होंने इसकी जांच भी कराई थी। इसके बाद, जब भी उन्होंने कंडोम का इस्तेमाल किया, उन्हें दर्द का सामना करना पड़ा। आखिरकार जब वह 21 साल की हुईं, तब उन्हें पता चला कि उन्हें latex से एलर्जी है। बता दें कि कई तरह के कंडोम में latex का इस्तेमाल किया जाता है।

अब 26 साल की हो चुकी Bryanna Alexis ने कहा, ‘हर बार सेक्स के बाद तकलीफ होने की वजह से उनकी जिंदगी बुरी तरह प्रभावित हो गई थी, लेकिन latex से एलर्जी की जानकारी मिलने के बाद अब उन्होंने दोबारा सेक्शुअल कॉन्फिडेंस हासिल का लिया है। पेशे से मॉडल Bryanna ने सेक्स कोच के तौर पर भी खुद की पहचान बनाई है।

मॉडल ब्रिआना लोगों को भी सलाह देती हैं कि अगर उन्हें सेक्शुअल लाइफ में किसी प्रकार की प्रॉब्लम है तो उसे इग्नोर करने के बजाए उसके कारणों को समझने की कोशिश करें। उनका कहना है कि शारीरिक संबंध किसी के लिए भी तकलीफदेह नहीं होने चाहिए। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, जब किसी व्यक्ति की बॉडी latex को नुकसानदायक पदार्थ समझ लेता है तो शरीर उससे लड़ने के लिए एंटीबॉडीज को ट्रिगर करता है।

अगली बार जब व्यक्ति दोबारा लैटेक्स के संपर्क में आता है तो एंटीबॉडीज इम्यून सिस्टम को जानकारी देती है और शरीर हिस्टामाइन और कई अन्य तरह के केमिकल खून में भेजने लगते हैं। इसी वजह से कई तरह के एलर्जी साइन दिखने लगते हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...