1. हिन्दी समाचार
  2. विदेश
  3. म्यांमार मे अब तक का सबसे बड़ा खून-खराबा, प्रदर्शनकारियों को गोलियों से भूना, 51 मरें, कई घायल

म्यांमार मे अब तक का सबसे बड़ा खून-खराबा, प्रदर्शनकारियों को गोलियों से भूना, 51 मरें, कई घायल

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: निहाल राठौर

नई दिल्ली: म्यांमार मे तख्तपलट के बाद देश मे दहशत का माहौल बना हुआ है। सेना और लोकतंत्र के समर्थकों के बीच चल रहा ये खुनी खेल थमने का नाम नहीं ल रहा है। बता दें, कि बीते दिन (14 मार्च) म्यांमार से ऐसी खबर सामनें आ रही है। जहां सैनिकों ने लोकतंत्र के समर्थकों को गोलियों से भून दिया जिसमें 51 से ज्यादा प्रदर्शनकारियों के मौत की खबर बताई जा रही है।

जानकारी के लिए बता दें कि म्यांमार में तख्तापलट के बाद से ही हालात बेकाबू हो गए है। रविवार को यंगून इलाके में प्रदर्शनकारियों द्वारा एक चाइनीज़ फैक्ट्री को आग के हवाले कर दिया गया। जिसके बाद हालात और भी बिगड़ गए। फिर म्यांमार की सेना ने प्रदर्शनकारियों पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं, जिसमें 51 प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई और कई घायल बताएं जा रहे है। बता दें कि बीते 6 हफ्ते से जारी प्रदर्शन का ये अबतक का सबसे खतरनाक एक्शन बताया जा रहा है।

अबतक इतने लोगों की गई जान

आपको बता दे, कि रविवार को यंगून मे सेना द्वारा की गई गोलीबारी में 51 लोगों की जान गई, तो उससे अलग-अलग शहरों में भी 12 लोग रविवार को ही अपनी जान से हाथ धो बैठे। म्यांमार के एक संगठन के मुताबिक, अभी तक के प्रदर्शन में मारे गए लोगों की संख्या 125 का आंकड़ा पार कर चुकी है। जानकारों का कहना है, कि अभी म्यांमार में प्रदर्शनकारियों की मौत का आंकड़ा और भी बढ़नें के आसार है, क्योंकि अभी भी कई जगह ऐसी हैं, जहां लाशें पड़ी हुई हैं लेकिन उनकी खबर नहीं ली गई है।

आखिर क्यों हो रहा है ये प्रदर्शन

आपकी जानकारी के लिए बतां दे, कि भारत का पड़ोसी देश मयांमार जो कि पहले वर्मा के नाम से जाना जाता था। यह देश पहले भारत का हिस्सा हुआ करता था, जो साल 1937 में भारत से पूरी तरह से अलग हो गया। तब से लेकर अब तक इस देश मे भारत के समान लोकतंत्र की सरकार थी। लेकिन, 1 फरवरी को इस देश मे तख्तापलट देखने को मिला। सैन्य शासन द्वारा लोकतंत्र के नेताओं को बंदी बना लिया गया और वहां की मिलिट्री ने देश का बागडोर अपने हाथों मे ले लिया। सैन्य शासन द्वारा लोकतंत्र समर्थकों पर बर्बरता को लेकर पूरी दुनिया इसकी आलोचना कर रही है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...