1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. शर्मनाक : 6 साल की मासूम से दरिंदगी, आधे जिस्म से गायब थे कपड़े, आंख फोड़ की हत्या और…

शर्मनाक : 6 साल की मासूम से दरिंदगी, आधे जिस्म से गायब थे कपड़े, आंख फोड़ की हत्या और…

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में एक 6 साल के मासूम के साथ इस कदर हैवानियत को अंजाम दिया गया, जिसे देखने वालों का कलेजा कांप उठा। किसी दरिंदे ने उस मासूम की हत्या कर लाश को तालाब में फेंक दिया था। बच्ची की एक आंख भी बेरहमी के साथ फोड़ दी गई थी। उसके गले पर दबाने के निशान थे। आधे जिस्म से कपड़े भी गायब थे। परिजनों ने उसके साथ बलात्कार की आशंका भी जताई है। लेकिन पुलिस रेप की घटना से इनकार कर रही है।

बता दें कि दिल दहला देने वाली ये वारदात बाराबंकी के सफदरगंज थाना क्षेत्र की है। जहां नसीरपुर गांव में रहने वाली 6 वर्षीय बच्ची को रात में सोते वक्त अनजान शख्स ने अगवा कर लिया। रात से लापता बच्ची की तलाश की जा रही थी। परिजन खोजबीन में जुटे थे। गांव के लोग भी बच्ची को तलाशने में मदद कर रहे थे।

सोमवार की सुबह परिजनों को बच्ची का शव गांव के तालाब में मिला। शव देखकर बच्ची के साथ की गई दरिंदगी का साफ पता चल रहा था। उसकी बाईं आंख फोड़ दी गई थी। उसके शरीर पर चोटों के कई निशान थे। बच्ची की लाश का ये हाल देखकर परिजन सकते में आ गए। उनके घर में मातम छा गया।

सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। बच्ची के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने मामले की तहकीकात शुरू कर दी है। इस दौरान बच्ची के परिजनों ने पड़ोस के एक युवक पर बच्ची के अपहरण, रेप और हत्या का शक जताया है। क्योंकि पहले से ही युवक के परिवार से उनकी रंजिश चल रही थी।

इसके बाद पुलिस ने आरोपी युवक को हिरासत में ले लिया। अब उससे पूछताछ की जा रही है। पुलिस के मुताबिक सुबह करीब 3 बजे तालाब के किनारे बच्ची की लाश मिलने के बाद सफदरगंज थाना पुलिस मौके पर पहुंची। साथ ही डॉग स्क्वॉड और फॉरेंसिक टीम को भी मौके पर बुलाया गया था।

पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद का कहना है कि सफदरगंज थाना क्षेत्र में एक बच्ची के शव मिलने की सूचना मिली थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। बच्ची की बाईं आंख में चोट के निशान पाए गए हैं। लेकिन कोई आंख निकालने जैसी घटना नहीं हुई है। फिलहाल गला दबाकर हत्या करने की बात सामने आ रही है।

बता दें कि पीड़ित परिवार की तहरीर के आधार पर आईपीसी की धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। शक के आधार पर एक आरोपी को हिरासत में लिया गया है। पुलिस गहनता से मामले की जांच कर रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads