1. हिन्दी समाचार
  2. क्राइम
  3. पहलवान सागर हत्याकांड मामले में दिल्ली पुलिस की बड़ी कामयाबी, बवाना गैंग के चार गिरफ्तार, लगाया मकोका…

पहलवान सागर हत्याकांड मामले में दिल्ली पुलिस की बड़ी कामयाबी, बवाना गैंग के चार गिरफ्तार, लगाया मकोका…

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड मामले में दिल्ली पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है, जिसमें उन्होंने नीरज बवाना गैंग के चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है। आपको बता दें कि ये चारों बदमाश 4-5 मई की रात छत्रसाल स्टेडियम में ब्रेदा और स्कॉर्पियो गाड़ी में सवार होकर वारदात की रात पहुंचे थे। जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया था। स्कॉर्पियो गाड़ी से ही पुलिस को एक डबल बैरल गन भी मिली थी। सूचना मिलने के बाद चारों बदमाशों को पुलिस ने घेरकर गांव से गिरफ्तार कर लिया है।

आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस की जांच में यह बात सामने आई थी कि उस रात को ओलंपियन सुशील कुमार ने नीरज बवाना गैंग के सदस्यों को बुलाया हुआ था। इसके बाद इन्होंने सागर धनकड़ और उसके साथी सोनू महाल की छत्रसाल स्टेडियम के अंदर जमकर पिटाई की। पुलिस सूत्रों के मुताबिक सागर धनखड भी काला जठेड़ी गैंग से जुड़ा हुआ था।

काला जठेड़ी गैंग पर दिल्ली पुलिस ने लगाया मकोका

आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस ने कार्रवाई करते हुए काला जठेड़ी गैंग पर भी मकोका लगा दिया है, जो विदेश में बैठकर अपना गैंग चला रहा है। यहां उसके गुर्गे दिल्ली पंजाब हरियाणा राजस्थान, उत्तर प्रदेश में हत्या लूट और एक्सटॉर्शन जैसी वारदातों को अंजाम दे रहे हैं।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक काला जठेड़ी विवादित जमीनों में डील करता है और फिर उन जमीनों से कब्जे छुड़वा कर कमीशन का खेल खेलता है। ऐसा माना जाता है कि काला जठेड़ी के गैंग में करीब 500 गुर्गे है। फिलहाल काला जठेड़ी राजस्थान के कुख्यात लॉरेंस बिश्नोई गैंग की भी कमान संभाले हुए है।

रिमांड पर लिया गया गैंग्स्टर लॉरेंस बिश्नोई

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने जेल में बंद गैंग्स्टर लॉरेंस बिश्नोई समेत संपत नेहरा और 2 अन्य बदमाशों को सागर मर्डर केस में पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया है। ये सभी गैंगस्टर दिल्ली राजस्थान और हरियाणा की अलग-अलग जेल में बंद थे। दिल्ली पुलिस इनसे काला जठेड़ी गैंग और सागर धनखड हत्या कांड में पूछताछ करेगी।

दरअसल जांच के दौरान पुलिस को ये भी पता चला है कि पहले सुशील पहलवान और काला जठेड़ी भी संपर्क में थे। उस वक़्त सुशील कुमार ने कई बिजनेसमेन के नंबर काला जठेड़ी को उगाही की धमकी देने के लिए दिए थे। जिसके बाद सुशील कुमार ही कमीशन लेकर बिजनेस मैन का समझौता काला जठेड़ी से कराता था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads