1. हिन्दी समाचार
  2. क्राइम
  3. पत्नी का काम नहीं कर रहा था बायां हाथ, पति ने सवा लाख की सुपारी देकर करवा दी हत्या

पत्नी का काम नहीं कर रहा था बायां हाथ, पति ने सवा लाख की सुपारी देकर करवा दी हत्या

The left hand was not doing the wife's work, the husband got him killed by giving a betel nut of one and a half lakhs; पत्नी के बाये हाथ का काम न करने से नाराज उसकी हत्या करवा दी। इसके लिए आरोपी पति ने एक शूटर को तकरीबन सवा लाख रुपये की सुपारी दी थी।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली:  एक हादसे में पत्नी के बायें हाथ में गोली लग गई थी, जिससे उसका बायां हाथ काम नहीं कर रहा था। इससे नाराज पति ने एक शख्स को सवा लाख की सुपारी देकर अपनी ही पत्नी की हत्या करवा दी। आपको बता दें कि ये मामला बिहार के मुंगेर जिला की है। जिस घटना को 15 नवंबर को अंजाम दिया गया था। बता दें कि इस हत्याकांड का खुलासा पुलिस ने 36 घंटे के अंदर कर दिया।

आपको बता दें कि महिला की पहचान दीपिका शर्मा के रूप में हुई है। हत्या की साजिश रचने के आरोपी सीआईएसएफ में कार्यरत पति सहित पांच हत्यारे गिरफ्तार कर लिए गए। एक हादसे में मृतका के हाथ में गोली लगने से हाथ डैमेज हो गया था। हाथ काम नहीं करने से नाराज पति ने एक लाख बीस हजार रुपये देकर अपनी पत्नी की हत्या करवा दी।

पुलिस अधीक्षक का बयान

कासिम बाजार थाना क्षेत्र में हुई महिला की हत्या मामले में पुलिस अधीक्षक जगुनाथरेड्डी जलारेड्डी ने बताया कि सोमवार की सुबह दीपिका शर्मा की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी जिसको लेकर मृतका के भाई कुमार भानु के बयान पर केस दर्ज किया था।

कॉल डिटेल ने खोली पोल

इस मामले में एसडीपीओ के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। टीम ने अनुसंधान प्रारंभ किया तो परिजनों की संलिप्तता का सुराग मिला जिसके बाद पुलिस ने मृतका के देवर छोटू शर्मा, ससुर राजीव कुमार एवं फुफेरे देवर सुमित कुमार की कॉल डिटेल निकाली क्योंकि छोटू व सुमित हत्या के दिन घर में ही थे।

कॉल डिटेल के आधार पर कोतवाली थाना क्षेत्र के शामपुर निवासी शूटर गौतम कुमार, संजीव कुमार एवं पतलू के बारे में फ़ोन पर हुई बातचीत का पता चला जिसके बाद पुलिस ने तीनों के घरों पर छापेमारी की और गौतम व संजीव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया जबकि पतलू फरार हो गया।

पत्नी की हत्या कराना चाहता था पति

गिरफ्तार शूटर गौतम कुमार से पुलिस ने जब पूछताछ की तो उसने हत्याकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है। उसने बताया कि सुमित कुमार ने करीब एक महीने पहले फोन कर बोला था कि मेरे भाई रवि कुमार जो कि सीआइएसएफ धनबाद में कार्यरत हैं, वह अपनी पत्नी की हत्या कराना चाहता है। सौदा 1 लाख 20 हजार रुपये में तय हुआ। सुमित ने अपने मोबाइल से गौतम को रवि कुमार से बात कराई और एडवांस में 20 हजार रुपये गौतम को दिए।

मुंगेर एसपी जगुनाथरेड्डी जलारेड्डी ने बताया

मुंगेर एसपी जगुनाथरेड्डी जलारेड्डी ने बताया कि वर्ष 2017 में मृतका दीपिका शर्मा के मायके में गोलीबारी की घटना हुई थी। उस समय मृतका सात माह की गर्भवती थी। उस घटना में गोली लगने से मृतका की मां की मौत हो गई थी जबकि दीपिका को दो गोली लगी थी जिसमें एक गोली उसके बायें हाथ में लगी थी। इस वजह से बाएं हाथ ने काम करना बंद कर दिया था। इस कारण से मृतका के ससुराल वाले उसे नापसंद करने लगे थे।

एसपी ने आगे बताया कि इसी से नाराज पति और ससुराल वालों ने दीपिका की हत्या कराने की साजिश रची। सोमवार को जब दीपिका टॉयलेट जा रही थी, उसी समय चारदीवारी फांदकर शूटर अंदर आये और दीपिका पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर उसकी हत्या कर दी। उन्होंने बताया कि घटना में शामिल आरोपी पति, उसके दो भाई और दो शूटरों को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि एक फरार है। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...