1. हिन्दी समाचार
  2. Madhya Pradesh
  3. बच्चे की चाहत में लड़की से रेप, प्रेग्नेंट कर डिलीवरी भी कराई फिर पत्नी के पेट में तकिया बांध बताया उसका बच्चा

बच्चे की चाहत में लड़की से रेप, प्रेग्नेंट कर डिलीवरी भी कराई फिर पत्नी के पेट में तकिया बांध बताया उसका बच्चा

The girl was raped in the desire of the child; पत्नी की नसबंदी के बाद युवक के दोनों बच्चे मर गए थे। इसके बाद उसने एक लड़की को खरीदा और जबरन उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। गर्भवती होने पर अस्पताल में कराया भर्ती।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : पहले लड़की को खरीदा, फिर उसे अपने गांव ले गया। जहां उसने कई बार लड़की के साथ जबरन बलात्कार किया। फिर जब वह गर्भवती हुई तो, उसने अपनी पत्नी के पेट पर तकिया बांध दिया। जिसके बाद जब पीड़िता ने बच्चे को जन्म दिया तो उसे अपनी पत्नी का बताया। आपको बता दें कि ये शर्मनाक मामला है मध्य प्रदेश के उज्जैन का, जहां से ये चौंकाने वाली खबर सामने आई है।

क्या है पूरा मामला

उपसरपंच राजपाल सिंह दरबार बच्चे की चाहत में नागपुर (nagpur) से एक लड़की को खरीदकर लाया। उसे 16 महीने तक घर में छिपाकर रखा। उसका शारीरिक शोषण करता रहा। डिलीवरी के लिए उसे प्राइवेट अस्पताल में पत्नी के नाम से भर्ती भी कराया और डिलीवरी के कुछ ही घंटों बाद उसे अस्पताल से भगा दिया। मामले का खुलासा तब हुआ, जब 6 नवंबर को पीड़िता पुलिस को लावारिस हालत में मिली। उसे वन स्टॉप सेंटर लाया गया। यहां पता चला कि उसके पेट में इंफेक्शन हो गया, जिससे हालत बिगड़ गई। उसका इलाज कराया जा रहा है। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया है। पीड़िता ने पुलिस को आपबीती सुनाई है। जिसके बाद आरोपी पति-पत्नी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

5 आरोपी पर केस दर्ज

आरोपी पर 7 धाराओं 344, 376-A, 365, 377, 323, 506 और 120-B के तहत केस दर्ज किया गया है। इस केस में कुल पांच आरोपी बनाए गए हैं। राजपाल सिंह दरबार के साथ उसकी पत्नी, उसके जीजा वीरेंद्र सिंह, भानजा कृष्ण पाल सिंह और चंदा। चंदा ने ही लड़की को बेचा था। एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने बताया कि 19 साल की पीड़िता नागपुर की रहने वाली है। उसके माता-पिता नहीं हैं। वह अपने छोटे नाबालिग भाई के साथ रहती थी। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि नागपुर की चंदा नाम की महिला ने उसे डेढ़ साल पहले शादी का झांसा देकर बेचा था। वह व्यक्ति उसे गांव ले आया। यहां 16 महीने तक उसका शारीरिक शोषण किया।

पत्नी के पेट में बांधा था तकिया

पूछताछ में पता चला कि आरोपी उपसरपंच की पत्नी के दो बच्चे थे। पति ने उसकी नसबंदी करवा दी। इस बीच उसके बच्चे मर गए। पत्नी बच्चा पैदा नहीं कर सकती थी इसलिए उसने लड़की को खरीदा। उसकी पत्नी लड़की को पति के साथ रहने के लिए कहती थी। मुझसे मारपीट भी करती थी। 16 महीने तक छिपाकर रखा गया। आरोपी ने अपनी पत्नी के पेट पर तकिया बांध दिया था, ताकि लोगों को लगे कि वह प्रेग्नेंट है। पहले आरोपी डॉक्टर के पास भी चेकअप के लिए चोरी-छिपे लेकर जाता था। आरोपी ने डिलीवरी के लिए महिला को पत्नी के नाम से भर्ती कराया था। यही नहीं, दस्तावेज भी पत्नी के ही जमा करवाए, जिससे पत्नी के नाम से बच्चा हो। बाद में 6 नवंबर को डिलीवरी के बाद उसे जान से मारने की धमकी देकर छोड़ दिया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...