1. हिन्दी समाचार
  2. क्राइम
  3. शिक्षक से नहीं देखी गई छात्र की खुशी, जड़े ऐसे थप्पड़ की आई सर्जरी की नौबत; पढ़े पूरी खबर

शिक्षक से नहीं देखी गई छात्र की खुशी, जड़े ऐसे थप्पड़ की आई सर्जरी की नौबत; पढ़े पूरी खबर

Student's happiness was not seen from teacher, due to such slap, surgery came; 20 महीने बाद छात्र पहुंचा स्कूल। स्कूल आने की मना रहा था खुशी। टीचर से बर्दाश्त नहीं हुई छात्र की खुशी।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : अमूमन लोग कहते है कि शिक्षक अपने विद्यार्थियों की खुशी से खुश होते हैं और उनकी कामयाबी से उत्साहित होते है। लेकिन यहां एक शिक्षक को अपने एक छात्र की खुशी बर्दाश्त नहीं हुई। और उसने अपने छात्र को ऐसा झन्नाटेदार थप्पड़ मारा की उसे सर्जरी कराने की नौबत आई।

आपको बता दें कि ये चौंकानी वाली खबर पश्चिम बंगाल के हुगली से सामने आई है। जहां उत्तरपाड़ा के अमरेंद्र विद्यापीठ में टीचर को छात्र की खुशी सही नहीं गई तो उन्होंने दसवीं के छात्र की कनपटी पर थप्पड़ जड़ दिया। आपको बता दें कि छात्र 20 महीने बाद टिफिन ऑवर में टिफि‍न बजाकर स्कूल आने की खुशी मना रहा था।

हद तो तब हो गई जब छात्र स्कूल के प्रिंसिपल के पास अपनी शिकायत दर्ज कराके बाहर निकल रहा तो था तो गुस्से में तमतमाए शिक्षक ने दोबारा छात्र की कनपटी के नीचे थप्पड़ जड़ दिया। इस थप्पड़ के बाद छात्र को कान के नीचे काफी पीड़ा महसूस होने लगी। घर जाकर उसने अपने माता-पिता को अपनी आपबीती सुनाई जिसके बाद उसके माता-पिता उसे इलाज के लिए डॉक्टर के पास ले गए।

सर्जरी की पड़ सकती है जरूरत

डॉक्टर ने पीड़ित छात्र को प्राथमिक उपचार करने के बाद 6 से 8 हफ्ते के लिए ऑब्जर्वेशन में रखने का सुझाव दिया है। जिसके बाद उसके कनपटी की सर्जरी करने की भी जरूरत पड़ सकती है। इस मामले के बाद पीड़ित छात्र के माता-पिता ने उत्तरपाड़ा थाने में केस दर्ज कराया है। इस घटना में अभियुक्त शिक्षक गौतम रूईदास में दसवीं कक्षा के छात्र सुभोजित मन्ना को दो बार कनपटी के नीचे थप्पड़ मारा। पहली बार थप्पड़ मारने के बाद पीड़ित छात्र जब स्कूल के प्रिंसिपल से मौखिक शिकायत दर्ज करने के बाद प्रिंसिपल के कक्ष से बाहर निकल रहा था तो दोबारा शिक्षक ने छात्र के कनपटी पर थप्पड़ जड़ दिया।

इस मामले में तथाकथित आरोपी शिक्षक ने बताया कि उनका संबंधित छात्र को थप्पड़ मारने का कोई इरादा नहीं था और न ही उस छात्र से उनकी कोई व्यक्तिगत शत्रुता है। उन्होंने सिर्फ अनुशासन पालन करने के लिए उससे कहा था और इसी दौरान हाथापाई में हो सकता है कि उसके कान के नीचे उनका हाथ लग गया हो। उन्होंने कहा कि छात्र सुभोजित मन्ना ने प्रिंसिपल से शिकायत करने के बाद बाहर निकलते हुए उन्हें लगभग धमकी देने की मुद्रा में कहा कि सर आपको देख लेंगे। बावजूद इसके यदि छात्र के कनपटी के नीचे कोई चोट लगी है तो इसके लिए वे काफी दुखी हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...