Home उत्तर प्रदेश सुषमा स्‍वराज के दखल के बाद हिंदू-मुस्लिम जोड़े को मिला पासपोर्ट

सुषमा स्‍वराज के दखल के बाद हिंदू-मुस्लिम जोड़े को मिला पासपोर्ट

2 second read
0
92

लखनऊ। अपनी अलग तरह की कार्यशैली की लिए जाने जानी वाली विदेश मंत्री सुषमा स्वराज एक बार फिर शुर्खियों में है। दरअसल लखनऊ के एक युवा जोड़े को पासपोर्ट मिलने में दिक्कत हो रही थी। जिसके बाद दंपति ने इस मामले को लेकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी गुहार लगाई थी। जिसके बाद विदेश मंत्रालय ने लखनऊ पासपोर्ट कार्यालय से मामले की जानकारी मांगी तो पता चला कि पासपोर्ट कर्मचारी ने युवा जोड़े का पासपोर्ट बनाने से ये कहकर इनकार कर दिया था कि उनका धर्म अलग-अलग है। अनस सिद्दीकी और तन्वी सेठ नाम के इन दंपत्ति को कर्मचारी ने कहा था कि अलग-अलग धर्म में शादी करने की वजह से पहले आपको अपना नाम बदलना होगा, उसके बाद ही पासपोर्ट बन सकता है। दंपती ने कर्मचारी पर बदसलूकी का भी आरोप लगाया था। हालांकि मामला सामने आने के बाद लखनऊ के रीजनल पासपोर्ट ऑफिसर ने कर्मचारी की ग़लती मानी और दंपति को पासपोर्ट जारी कर दिया गया है।

आपको बता दें कि तन्वी सेठ ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्वीट किया था। इस में तन्‍वी ने लिखा था कि हेलो मैम, न्याय और आप पर पूरे भरोसे के साथ-साथ काफी गुस्से में मैं ये ट्वीट टाइप कर रही हूं। एक मुस्लिम शख़्स से शादी करने और अपना नाम नहीं बदलने की वजह से जिस तरीक़े से लखनऊ पासपोर्ट ऑफ़िस में मेरे साथ विकास मिश्रा ने बदसलूकी की, उससे मेरे मन में काफ़ी ग़ुस्सा है। उसने मुझसे बहुत बेरुख़ी से बात की। मेरे मामले पर चर्चा के दौरान उनकी आवाज इतनी तेज थी कि दूसरे लोग पूरी बातचीत सुन रहे थे। पहले कभी इतना अपमानित महसूस नहीं किया। इसके बाद विदेश मंत्रालय ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत लखनऊ कार्यालय से रिपोर्ट तलब की।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.