1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. कोरोना का कहर दक्षिण में तेज, कर्नाटक में 14 जून तक बढ़ाया गया लॉकडाउन

कोरोना का कहर दक्षिण में तेज, कर्नाटक में 14 जून तक बढ़ाया गया लॉकडाउन

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली: कोरोना के दूसरे लहर का हाहाकार अब भी लगातार जारी है। CBSE की 12वीं की बोर्ड परिक्षा समेंत कई राज्यों ने अपने यहां की बोर्ड परिक्षा को रद्द कर दिया है। बात करें दक्षिण भारत की तो कर्नाटक में भी महामारी की गंभीरता को देखते हुए 14 जून तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। मुख्‍यमंत्री बीएस येदियुरपा ने गुरुवार को ऐलान करते हुए कहा कि यह प्रतिबंध 14 जून की सुबह 6 बजे तक लागू रहेंगे।

सीएम येदियुरप्‍पा ने बुधवार को भी कहा था कि गांवों में कोरोना के मामलों की संख्‍या काफी है, और लॉकडाउन में रियायत देने के बारे में सोचसमझकर निर्णय किए जाने की जरूरत है। राज्‍य की कोविड टेक्निकल एडवाइजरी कमेटी ने सरकार से एक रिपोर्ट में कहा है कि पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी से नीचे आने और रोजाना केसों की संख्‍या पांच हजार से कम आने की स्थिति में ही प्रतिबंधों में रियायत देना ठीक रहेगा।

आपको बता दें कि कर्नाटक, तमिलनाडु और महाराष्‍ट्र मौजूदा वक्त में कोरोना से देश के सबसे ज्‍यादा प्रभावित राज्‍यों में हैं। कर्नाटक में तो इस समय कोरोना के एक्टिव केसों की संख्‍या दो लाख 93 हजार के आसपास है। इसी तरह तमिलनाडु में कोरोना के दो लाख 88 हजार के करीब केस हैं जबकि महाराष्‍ट्र में कोरोना के एक्टिव केसों की संख्‍या में कमी आई है लेकिन राज्‍य में अभी भी कोरोना के दो लाख 18 हजार के आसपास एक्टिव केस हैं। कर्नाटक में अब तक कोरोना संक्रमण के 26 लाख 35 हजार 122 केस दर्ज किए जा चुके हैं। राज्‍य में कोरोना के कारण अब तक 30 हजार लोगों को जान गंवानी पड़ी है।

पिछले 24 घंटों में देश में कोरोना के 1,34,154 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान बीमारी की चपेट में आकर 2887 लोगों की मौत भी दर्ज की गई है। देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 2,84,41986 हो गई है। देश में अभी कोरोना से संक्रमित 17,13,413 लोगों का इलाज चल रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय से मिले आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 2,11,499 है। वहीं, पूरे देश में जारी टीकाकरण अभियान के तहत पिछले 24 घंटों में 24,26,265 लोगों ने टीकाकरण कराया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads