Home Breaking News 14,000 पेड़ों की कटाई के विरोध में दिल्ली में शुरू हुआ ‘चिपको आंदोलन’

14,000 पेड़ों की कटाई के विरोध में दिल्ली में शुरू हुआ ‘चिपको आंदोलन’

0 second read
0
58

नई दिल्ली। दिल्ली में 14000 पेड़ों की कटाई का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। जहां एक तरफ लोग सरकार के इस फैसले के खिलाफ आंदोलन कर रहे है। वहीं इस मामले में आज दिल्ली हाईकोर्ट ने इतनी बड़ी संख्या में पेड़ों को काटने की योजना पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने कहा है कि एनजीटी में मामले की सुनवाई तक रोक लगी रहेगी। बता दें कि सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने एनबीसीसी के पेड़ काटने पर सवाल उठाए हैं। हाईकोर्ट ने कहा कि आप आवास बनाने के लिए हजारों पेड़ काटना चाहते हैं और क्या दिल्ली ये अफोर्ड कर सकते हैं।

वहीं सरोजनी नगर में रविवार को पेड़ों की कटाई के विरोध में लोगों ने धरना-प्रदर्शन किया। लोगों ने स्लोगन, पोस्टर और प्रदर्शनी के साथ ही पेड़ों से चिपककर अपना विरोध दर्ज कराया। विरोध प्रदर्शन में लोगों के साथ आप के विधायक भी शामिल हुए। दरअसल सरोजिनी नगर, नेताजी नगर, कस्तूरबा नगर, मोहम्मपुर, त्यागराज नगर की कॉलोनियों के रिडेवलपमेंट प्लान के लिए दक्षिणी दिल्ली में पेड़ों की कटाई शुरू कर दी गई है। विरोध कर रहे लोगों का कहना है कि जिस तरह से हजारों पेड़ों को काटे जाने का कार्य शुरू किया है, उससे भविष्य में ऑक्सीजन की मात्र में काफी कमी आएगी। लोगों का कहना है कि साउथ दिल्ली में पेड़ काटने के बारे में हमने मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग को पत्र देकर कहा है कि दिल्ली में पेड़ लगाने की जरूरत है। अगर पेड़ों को काटा गया, तो वह वोट भी नहीं देंगे।

आपको बता दें कि दिल्ली में पेड़ों की कटाई के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन (एनबीसीसी) और लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) आश्वासन दिया है कि वे चार जुलाई तक पेड़ों की कटाई की कार्रवाई नहीं करेंगे। दरअसल पेड़ों के काटे जाने का मामला अब नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) में भी पहुंच गया है। सोसाइटी फॉर प्रोटेक्शन ऑफ कल्चरल, हैरीटेज, एनवायरमेंट, ट्रेडीशन एंड प्रोमोशन ऑफ नेशनल अवेयरनेस एनजीओ ने एनजीटी में याचिका दायर की है।

Load More In Breaking News
Comments are closed.