Home देश मदर टेरेसा की संस्था ‘मिशनरीज ऑफ चैरिटी’ से 280 नवजात गायब

मदर टेरेसा की संस्था ‘मिशनरीज ऑफ चैरिटी’ से 280 नवजात गायब

1 second read
0
38

नई दिल्ली। मदर टेरेसा द्वारा स्थापित मिशनरीज ऑफ चैरिटी इन दिनों विवादों में छाया हुआ है। पहले एक नवजात की बिक्री के लगे आरोप के बाद अब इस संस्था पर कई और बड़े आरोप लग रहे है। खबरों के  मिशनरीज ऑफ चैरिटी की मदद से जिन बच्चों का जन्म हुआ, उसमें से 280 का कोई अता-पता नहीं है। बताया जा रहा है कि वर्ष 2015 से 2018 के बीच यहां करीब 450 गर्भवती महिलाएं थीं। इनमें से सिर्फ 170 की डिलीवरी रिपोर्ट ही उपलब्ध है। लेकिन 280 महिलाओं के बारे में कोई जानकारी नहीं है। ऐसे में आशंका है कि मिशनरीज ऑफ चैरिटी की आड़ में वर्षों से यहां नवजात का सौदा हो रहा है। बता दें कि इस मामले में खुफिया विभाग पहले भी सरकार को रिपोर्ट देता रहा है।

जानकारी के मुताबिक जनवरी, 2016 में मिशनरीज ऑफ चैरिटी की निर्मल हृदय रांची में 108 गर्भवती महिलाएं थीं। बाद में बाल कल्याण समिति ने जांच में पाया कि इनमें से 10 बच्चों का ही जन्म दिखाया गया। 98 के बारे में संस्था ने कोई जानकारी नहीं दी। वहीं रिपोर्ट्स के अनुसार, आंध्रप्रदेश में भी ऐसा मामला सामने आया था। वहां कई संस्थाओं के माध्यम से बच्चों की खरीद-फरोख्त हुई थी। जिसके बाद आंध्र सरकार ने इस मामले में सीबीआइ जांच की मांग की थी। कुछ ऐसी खबर है झारखंड से सामने आई है जहां नवजातों को अवैध तरीके से कोलकाता, केरल, तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश की मिशनरीज की संस्थाओं में फादर, सिस्टर और नन बनाने के लिए भेजा गया था।

Load More In देश
Comments are closed.