1. हिन्दी समाचार
  2. ताजा खबर
  3. भारत बना दुनि‍या का तीसरा सबसे बड़ा डॉमेस्टिक एवि‍एशन मार्केट, जानें किसे पछाड़ा

भारत बना दुनि‍या का तीसरा सबसे बड़ा डॉमेस्टिक एवि‍एशन मार्केट, जानें किसे पछाड़ा

India becomes the world's third largest domestic aviation market; केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ने विंग्स इंडिया, 2022  के उद्घाटन समारोह के दौरान दी जानकारी। विंग्स इंडिया, 2022 भारत का ही नहीं बल्‍क‍ि एशिया का सबसे बड़ा इवेंट है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

नई दिल्ली : घरेलू यात्रियों के मामले में भारत की एविएशन इंडस्‍ट्री दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा डॉमेस्टिक एवि‍एशन मार्केट बन गया है। भारत का नंबर अब चीन और अमरीका के बाद है। यह बातें केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने विंग्स इंडिया, 2022  के उद्घाटन समारोह के दौरान कहीं। विंग्स इंडिया, 2022 भारत का ही नहीं बल्‍क‍ि एशिया का सबसे बड़ा इवेंट हैं।

इस मौके पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा की भारतीय नागरिक उड्डयन उद्योग में पिछले कुछ वर्षों में काफी अच्‍छी तेजी देखने को मि‍ली है। साथ ही देश के आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। यह दुनिया भर से लोगों को भारत में व्यापार और पर्यटन के विशाल अवसरों की खोज करने में सफल रहा है। मंत्री ने कहा कि भारतीय विमानन उद्योग ने दुनिया के सबसे आकर्षक विमानन बाजारों में से एक बनने के लिए कई चुनौतियों का सामना किया है।

केंद्रीय मंत्री के अनुसार भारत आज संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन के बाद तीसरे सबसे बड़े घरेलू यातायात को संभालता है। हम सभी जानते हैं कि इस घनी वैश्विक अर्थव्यवस्था में, हवाई परिवहन देश के परिवहन बुनियादी ढांचे में एक प्रमुख तत्व है और देश के आर्थिक विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

कोविड के दौरान महत्‍वपूर्ण योगदान

केंद्रीय मंत्री ने COVID-19 महामारी के प्रभाव का मुकाबला करने में विमानन उद्योग के समर्थन की सराहना करते हुए कहा कि इसका प्रभाव बहुत अच्छा था क्योंकि इसमें एंजाइम, पीपीई किट, मास्क, दवाएं और कार्गो थे, जिनकी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को आवश्यकता थी। उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष -22 की पहली दो तिमाहियों (संयुक्त) के दौरान देश के हवाई अड्डों द्वारा संभाला गया कुल माल ढुलाई पूर्व-महामारी स्तर के 80 फीसदी (अप्रैल-सितंबर, वित्त वर्ष 22 के दौरान 15.36 लाख मीट्रिक टन) से अधिक हो गया है। ताज्‍जुब की बात तो ये है की दूसरी तिमाही में देश कोविड महामारी की दूसरी झेल रहा था।

आरसीएस-उड़ान योजना के तहत 62 हवाई अड्डे हुए चालू

नागरिक उड्डयन के लाभों को आम लोगों तक पहुंचाने और सस्ती हवाई कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए, भारत सरकार ने 21 अक्टूबर 2016 को क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना (आरसीएस) – उड़ान (उड़े देश का आम नागरिक) की घोषणा की थी। अब तक, 387 मार्गों को जोड़ने की घोषणा की गई है। आरसीएस-उड़ान योजना के तहत 6 हेलीपोर्ट और 2 वाटर एयरोड्रोम सहित 62 हवाई अड्डों को चालू कर दिया गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...