Home अमरोहा बलात्कार के आरोप से बचने के लिए भाई ने सगी बहन को उतारा मौत के घाट

बलात्कार के आरोप से बचने के लिए भाई ने सगी बहन को उतारा मौत के घाट

0 second read
0
217

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

अमरोहा:  जिले से पुलिस ने गुरुवार को गैंगरेप मामले का खुलासा किया। एक बलात्कार के आरोपी ने अपनी सगी बहन को इसलिए मार डाला कि उसकी बहन के हत्या में पीड़िता का परिवार फंस जायेगा। आरोपी ने साजिश रचकर अपनी सगी बहनको मौत के घाट उतार दिया। इस पुरे मामले का खुलासा अमरोहा की एसपी सुनीति ने मीडिया के सामने किया, जिसे जानकर हरकोई दंग रह गया।

पुलिस ने बताया कि नेहा चौधरी की हत्या उसके सगे भाई अंकित चौधरी ने की है। अंकित ने अपनी सगी बहन को केवल इसलिए मौत के घाट उतार डाला कि गैंगरेप के एक मामले से खुद को बचाना चाहता था। उसने पीड़िता के परिवार को झूठे मामले में फंसाने के लिए अपनी बहन को ही मौत के घाट उतार दिया। उसकी कोशिश थी कि एक बार पीड़िता का परिवार हत्‍या के मामले में फंस गया तो फिर समझौता कर बरी होना आसान हो जाएगा।

आपको बता दें कि आठ फरवरी को अमरोहा के थाना अमरोहा देहात इलाके के बाईपास मार्ग पर स्थित हिल्टन कान्वेंट स्कूल के पास खाली प्लॉट में बीते एक अज्ञात युवती का शव मिला था। उसकी हत्‍या ईंट से कूचकर बड़ी बेरहमी से की गई थी। राहगीरों ने इसकी सुचना पुलिस को दी। मृतका की शिनाख्‍त अमरोहा के ही मोहल्ला पीर गढ़ की रहने वाली नेहा चौधरी के रूप में हुई। मृतका के चाचा की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया था।

जिसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। फोरेंसिक टीम से लेकर सीडीआर टीम तक ने तेजी से जांच पड़ताल शुरू की। पुलिस को मृतक युवती नेहा चौधरी के मोबाइल की सीडीआर से महत्‍वपूर्ण जानकारी मिली। इसके बाद सीसीटीवी फुटेज के आधार पर देहात थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने नेहा के भाई को गिरफ्तार कर लिया।

एसपी अमरोहा की मानें तो आरोपी अंकित चौधरी की सोच थी कि वह अपनी बहन की हत्‍या कर गैंगरेप केस से बरी हो जाएगा। उसके खिलाफ 29 जनवरी को थाना डिडौली क्षेत्र इलाके की दलित नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप के मामले में एफआईआर दर्ज हुई थी। वह फरार चल रहा था। खुद को बचाने के लिए उसने अपनी बहन की हत्या की साजिश रच डाली।

Load More In अमरोहा
Comments are closed.