1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. एक बार फिर कलंकित हुआ कुश्ती, कोच ने की महिला पहलवान की हत्या, भाई को दौड़ाकर मारा गोली; मां की हालत गंभीर

एक बार फिर कलंकित हुआ कुश्ती, कोच ने की महिला पहलवान की हत्या, भाई को दौड़ाकर मारा गोली; मां की हालत गंभीर

Wrestling once again tarnished, coach killed female wrestler; एक बार फिर कलंकित हुआ कुश्ती। कोच ने की महिला पहलवान निशा दहिया की हत्या। निशा दहिया के भाई को दौड़ाकर मारी गोली।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली: एक बार फिर कुश्ती जगत से एक ऐसी खबर सामने आई है, जिसने फिर कुश्ती खेल को कलंकित कर दिया है। दरअसल हरियाणा के सोनीपत में बुधवार को महिला पहलवान निशा दहिया और उसके भाई की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जिससे ग्रामीण भड़क गए और उन्होंने अकैडमी को आग के हवाले कर दिया। हालांकि दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पा लिया है।

खबरों की मानें तो निशा दहिया ने अकैडमी के ही एक कोच की ओर से छेड़छाड़ का विरोध किया था। इससे गुस्साए कोच ने निशा और उसके भाई पर गोलियां दाग दीं, जिसमें उनकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके अलावा मां भी हमले में बुरी तरह घायल हुई थी, जो जिंदगी और मौत के बीच झूल रही हैं। यही नहीं इस हत्याकांड में भी ओलंपियन पहलवान और हत्या के आरोपी सुशील कुमार का भी कनेक्शन सामने आया है।

दरअसल यह पूरी वारदात जहां हुई है, वह सुशील कुमार कुश्ती अकादमी ही है। घटना के बाद स्थानीय लोगों ने अकादमी में जमकर हंगामा किया और आग लगा दी, जिसे फायर ब्रिगेड की मदद से ही बुझाया जा सका। आपको बता दें कि पुलिस ने छेड़छाड़ करने वाले पवन, उसके साले, पत्नी और एक अन्य शख्स समेत 4 लोगों पर हत्या का केस दर्ज किया है।

निशा पर गलत नजर रखता था कोच

बताया जा रहा है कि सोनीपत के हलालपुर गांव से नाहरी रोड पर करीब तीन साल से सुशील कुमार कुश्ती अकादमी चल रही है। इस अकैडमी को रोहतक का रहने वाला पवन पहलवान चलाता है, जिस पर निशा और उसके भाई की हत्या का आरोप है। इसी अकैडमी में गांव हलालपुर की 22 वर्षीय पहलवान निशा भी प्रशिक्षण लेती थी। बुधवार को घायल निशा की मां धनपति ने पीजीआइ रोहतक में पुलिस को दी शिकायत में बताया कि कोच पवन का उसके घर आना-जाना था। दो दिन पहले उसकी बेटी निशा ने उसे बताया था कि कोच पवन उस पर गलत नजर रखता है।

स्कूटी पर भाग रहे भाई को मारी गोली

निशा की मां ने पुलिस से बताया कि उनकी पहलवान बेटी बुधवार को भी अकैडमी में गई थी। इसके बाद कोच पवन ने घर पर फोन कर उन्हें अकैडमी में बुलाया था। वह अपने बेटे सूरज के साथ स्कूटी से पहुंची ही थी कि निशा अंदर से भागती हुई आई और बताया कि कोच पवन ने आज फिर उसके साथ छेड़छाड़ की है। इस बीच आरोपी पवन के साथ दो अन्य युवक और उसकी पत्नी भी आ गए। पवन ने बहस के बीच में पिस्तौल निकाल ली और निशा को गोली मार दी। इसके बाद उन दोनों पर भी गोली चला दी। गोली लगने से वह घायल हो गईं लेकिन सूरज स्कूटी पर भाग निकला। सभी हमलावर सूरज के पीछे भागे। वह भी पैदल उनके पीछे दौड़ी। नहर के पास हमलवारों ने उसकी आंखों के सामने बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद आरोपित फरार हो गए।

कुश्ती के खेल पर फिर लगा एक कलंक

कुश्ती अकैडमी के अंदर इस तरह की घटना और वह भी कोच के अंजाम देने के चलते एक बार फिर से इस खेल पर धब्बा लगा है। कुछ महीने पहले ही दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में एक उभरते पहलवान की हत्या का मामला सामने आया था, जिसमें सुशील कुमार और उसके साथियों का नाम सामने आया था। फिलहाल इस मामले में सुशील कुमार जेल में बंद है। लेकिन अकैडमी के अंदर इस तरह की वारदात ने एक बार फिर से खेल जगत को शर्मसार किया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...