1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. PM मोदी के साथ तस्वीर खिंचाने वाला शख्स ओवैसी पर भड़का, कहा ओवैसी की वजह से दिखाना पड़ रहा कागज

PM मोदी के साथ तस्वीर खिंचाने वाला शख्स ओवैसी पर भड़का, कहा ओवैसी की वजह से दिखाना पड़ रहा कागज

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में चल रहे विधानसभा चुनाव में शनिवार को चौथे चरण का मतदान जारी है। वहीं हुगली में बीजेपी उम्मीदवार लॉकेट चटर्जी पर हमला किया गया। जबकि छिटपुट कई जगह से हिंसा की खबरें सामने आई हैं। वहीं दूसरी ओर बंगाल चुनाव के दौरान एक तस्वीर ऐसी भी वायरल हो रही है, जो दिखने में तो साधारण है, लेकिन उसके मायने बहुत गहरे हैं।

हम उस तस्वीर की बात कर रहें हैं, जिसमें पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार के दौरान एक टोपी लगाए व्यक्ति ने पीएम के कान में कुछ कहा। मिली जानकारी के अनुसार उस व्यक्ति का नाम जुल्फिकार अली है। व्यक्ति ने बताया कि मैंने पीएम से कहा कि मैं उसके साथ फोटो क्लिक करवाना चाहता हूं। जुल्फिकार अली दक्षिण कोलकाता जिले में भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष भी हैं।

इसके बाद उसकी तस्वीर क्लिक कर ली गई, और वह सोशल मीडिया का ट्रेंड बन गया। आइये जानते हैं उस व्यक्ति ने पीएम मोदी से और क्या कहा?

जुल्फिकार ने बताया कि कैसे वह पश्चिम बंगाल के सोनारपुर में एक सभा में प्रधानमंत्री से मिला था। उन्होंने कहा, हां, यह मैं था। मैं लंबे समय से भाजपा से जुड़ा हूं, लेकिन मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं व्यक्तिगत रूप से पीएम से मिलूंगा। मैंने उनके आने पर उन्हें सलाम किया।

जुल्फिकार ने आगे बताया कि, पीएम ने पहले मुझसे मेरा नाम पूछा फिर कहा कि कुछ चाहिए? मैंने उनसे कहा कि मुझे एमएलए का टिकट या काउंसिलर का पद नहीं चाहिए, मैं चाहता हूं कि मैं आपके साथ एक तस्वीर ले सकूं। फिर हमने तस्वीरें क्लिक कीं। जुल्फिकार ने कहा कि ये बातचीत मुश्किल से 40 सेकंड की थी, लेकिन 40 साल तक याद रहेगी।

जुल्फिकार अली उन लोगो को आइने दिखाया जो, जो टोपी पहनकर फोटो खिचवाने की उसकी आलोचना कर रहें हैं। इसमें AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी सबसे आगे हैं। औवैसी ने इस तस्वीर पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जुल्फिकार ने पीएम को बताया कि या तो वह बांग्लादेशी नहीं है या फिर कागज नहीं दिखाएंगे।

औवेसी के इस कटाक्ष पर जुल्फिकार ने कहा कि यह मेरी मतदाता पहचान पत्र है, जिसमें मेरा नाम और धर्म है। मैं अपना कागज दिखा रहा हूं। जो नेता कह रहे हैं कि मैंने टोपी पहने हुए फोटो सेशन कराया, उन्हें यह जानने की जरूरत है कि टोपी पहनने से कुछ नहीं होता। बहुत सारे गैर-मुस्लिम राजनेता सिर्फ लोगों को दिखाने के लिए टोपी पहनते हैं।

उसने आगे कहा कि मैं यह बात गर्व से कहता हूं कि मैं भारतीय हूं लेकिन ओवैसी जी ने मुझे इस जगह लाकर खड़ा कर दिया है कि मुझे अपना पहचान पत्र दिखाना पड़ रहा है। एक मुसलमान ही मुसलमान को नीचा दिखा रहा है। आपको बता दें कि टोपी पहने पीएम मोदी के साथ तस्वीर खींचवाने से विपक्ष को लग रहा है कि मुसलमान वोटरों का ध्रुवीकरण हो सकेगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...