1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. सीएम मोहन यादव के निर्देश से भोपाल में निजी स्कूलों पर कार्रवाई तेज, कई दुकानों पर मारे गए छापे

सीएम मोहन यादव के निर्देश से भोपाल में निजी स्कूलों पर कार्रवाई तेज, कई दुकानों पर मारे गए छापे

अभिभावकों की शिकायतों पर प्रतिक्रिया देते हुए, भोपाल के जिला कलेक्टर निजी स्कूलों के भीतर कथित कदाचार को संबोधित करने के लिए सीएम मोहन यादव के निर्देशों पर तेजी से कार्रवाई कर रहे हैं। विशेष रूप से, अभिभावकों को स्कूल की आपूर्ति खरीदने के लिए मजबूर करने के संदेह में दुकानों पर छापेमारी शुरू कर दी गई है।

By Rekha 
Updated Date

मध्य प्रदेश: अभिभावकों की शिकायतों पर प्रतिक्रिया देते हुए, भोपाल के जिला कलेक्टर निजी स्कूलों के भीतर कथित कदाचार को संबोधित करने के लिए सीएम मोहन यादव के निर्देशों पर तेजी से कार्रवाई कर रहे हैं। विशेष रूप से, अभिभावकों को स्कूल की आपूर्ति खरीदने के लिए मजबूर करने के संदेह में दुकानों पर छापेमारी शुरू कर दी गई है।

भोपाल कलेक्टर के निर्देशों के बाद, जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) ने निजी शैक्षणिक संस्थानों के बीच जवाबदेही सुनिश्चित करते हुए औचक निरीक्षण करने के लिए तुरंत चार टीमों को इकट्ठा किया है।

माता-पिता की शिकायतें त्वरित कार्रवाई
अभिभावकों की शिकायतों के बाद, भोपाल के जिला अधिकारी निजी स्कूलों के भीतर कथित कदाचार से निपटने के लिए सीएम मोहन यादव के आदेशों पर तेजी से कार्रवाई कर रहे हैं।

स्कूली आपूर्ति की दुकानों पर छापेमारी
अधिकारियों ने अभिभावकों पर स्कूल का सामान खरीदने के लिए दबाव डालने के संदेह में दुकानों पर छापेमारी शुरू कर दी है। इन कार्रवाइयों का उद्देश्य शिक्षा प्रणाली में निष्पक्षता और पारदर्शिता सुनिश्चित करना है।

डीईओ से त्वरित प्रतिक्रिया
जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) ने भोपाल कलेक्टर के निर्देशों के अनुसार औचक निरीक्षण करने के लिए चार टीमों का गठन किया है। इन टीमों का लक्ष्य निजी स्कूलों को उनके कार्यों के लिए जवाबदेह बनाना है।

दुकान के निरीक्षण से उजागर हुईं गड़बड़ियां
हाल के निरीक्षणों में स्कूलों द्वारा अभिभावकों पर विशेष रूप से कुछ दुकानों से सामग्री खरीदने के लिए दबाव डालने के उदाहरण सामने आए हैं। स्कूल-ब्रांडेड वस्तुएं जैसे वर्दी और किताबें भी बेची जाती पाई गईं।

कॉल सेंटर की स्थापना
आगे की चिंताओं को दूर करने के लिए, डीईओ कार्यालय में एक कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। माता-पिता और हितधारक मुद्दों के तुरंत समाधान और सहायता के लिए नामित कर्मियों तक पहुंच सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...