1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. रंग लाई बीजेपी की मेहनत, गृहमंत्री अनिल देशमुख को देना पड़ा इस्तीफा

रंग लाई बीजेपी की मेहनत, गृहमंत्री अनिल देशमुख को देना पड़ा इस्तीफा

By Amit ranjan 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली : महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। तकरीबन दो घंटे पहले ही बॉम्बे हाईकोर्ट ने अनिल देशमुख के खिलाफ CBI जॉचका आदेश दिया था। इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने देशमुख के इस्तीफे की मांग की थी। दो घंटा भी नहीं बीता था, कि देशमुख ने इस्तीफा सौंप दिया।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र की सियासत में उस वक्त भूचाल आ गया था, जब अनिल अंबानी के घर एंटीलिया के सामने 25 फरवरी को एक अज्ञात मिली थी। कार की जब पुलिस ने जॉच की तो उसमें विस्फोटक के साथ एक धमकी भरा पत्र भी मिला था। पुलिस इसकी जॉच कर ही रही थी इसी बीच विस्फोटक से लदी कार के मालिक मनसुख हिरेन की भी मौत हो गई।

एक तरफ एंटीलिया मामले की जॉच NIA कर रही थी, तो वहीं मनसुख हिरेन के मौत की जॉच महाराष्ट्र ATS कर रही थी। मनसुख हिरेन के मौत के मामले में महाराष्ट्र ATS ने मुंबई के पुलिस अधिकारी सचिन वाजे को आरोपी बनाया। तो महाराष्ट्र की सियासत और प्रशासन दोनो हिलने लगे। इसी बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मनसुख के मौत की भी जॉच NIA को करने का आदेश दे दिया।

आपको बता दें कि जब सचिन वाजे मनसुख हिरेन के मौत के मामले में फंसा तो इसकी ऑच मुंबई पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह तक पहुंच गई। इतना ही नहीं मुंबई पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह को 17 मार्च को उनके पद से हटा दिया गय़ा। परमवीर सिंह को जब उनके पद से हटाय़ा गया तो उन्होने मुख्यमंत्री उद्दव ठाकरे को एक चिठ्ठी लिखी, जिसके बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सहित पूरी सरकार हिलने लगी।

परमवीर सिंह ने मुख्यमंत्री को लिखे चिठ्ठी में कहा था कि गृह मंत्री अनिल देशमुख मुंबई पुलिस को 100 करोड़ रुपये हर महीने वसूली का लक्ष्य देते थे। इस चिट्ठी ने महाराष्ट्र की उद्धव सरकार को हिला कर रख दिय़ा। इसके बाद परमवीर सिंह ने सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाय़ा।

सर्वोच्च न्यायालय ने परमवीर सिंह की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि आप बॉम्बे हाईकोर्ट जाइये। वहां से मायूसी मिलने के बाद परमवीर सिंह ने बॉम्बे हाईकोर्ट की चौखट पर अपनी याचिका रखी। सोमवार 5 मार्च को बांम्बे हाईकोर्ट ने परमवीर सिंह की याचिका पर सुनवाई करते हुए बड़ा आदेश दे दिया।

हाईकोर्ट के आदेश के बाद उद्धव सरकार दबाव में आ गई थी। क्योंकि हाईकोर्ट ने कहा था कि परमवीर सिंह के आरोपो में गंभीरता है, इस लिए देशमुख के खिलाफ CBI जॉच से कम में काम नहीं होगा। इसके साथ ही हाईकोर्ट ने 15 दिन के भीतर ही जॉच सौंपने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट के आदेश के बाद तीन घंटे ही बीता था कि इसी बीच गृह मंत्री अनिल देशमुख में अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...