1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. नागरिकता कानून पर अखिलेश यादव का बयान- यह कानून जनता के हित में नहीं

नागरिकता कानून पर अखिलेश यादव का बयान- यह कानून जनता के हित में नहीं

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश भर के कई राज्यों में पिछले कुछ समय तक जोरदार विरोध प्रदर्शन किया गया, अब भी कई जगहों पर इस कानून को लेकर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। ऐसे में विपक्षी दलों ने सरकार पर जोरदार हमला बोला, तो वहीं केंद्र सरकार का इसपर कहना है कि विपक्षी दल जनता को इस कानून के बारे में गलत अफवाह फैला कर भ्रमित कर रही है। आज सपा नेता और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि यह कानून जनता के हित में नहीं है।

कई विपक्षी दल इस कानून को सरकार से वापस लेने की मांग कर रहे हैं और इनमे से एक सपा नेता अखिलेश यादव भी हैं, अखिलेश यादव ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि, यह भाजपा है जो पैसे देकर लोगों को उनके समर्थन में आने के लिए कहती है। इस कानून का विरोध करने वाली महिलाएं और युवा अपने दम पर और अपने लिए कर रहे हैं। यह कानून जनता के हित में नहीं है और लोग इसे स्वीकार नहीं करेंगे।

इसके आगे सपा अखिलेश यादव ने कहा कि, जातिगत जनगणना की संख्या, जो आयोजित की गई है, उसे जारी किया जाना चाहिए। सरकार उन्हें रोक क्यों रही है? जिस दिन जाति की जनगणना की संख्या सामने आएगी, हिंदू और मुसलमानों के बीच विवाद समाप्त हो जाएगा।

गौरतलब हो कि इस कानून को लेकर बीजेपी जन जागरूकता रैली चला रही है, जिसके तहत देश के अलग अलग राज्यों में जाकर इस कानून के बारे में लोगों को जागरूक कर रही है। भाजपा का कहना है कि यह कानून किसी की नागरिकता नहीं छिनता, बल्की पड़ोशी देशों में प्रताड़ित हुए सिख, हिंदू, ईसाई, जैन और बौद्ध धर्म के लोगों को नागरिकता देता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...