1. हिन्दी समाचार
  2. भाग्यफल
  3. शनिदेव हो गए है मार्गी : साढ़े साती और ढैया वालों को अब करना होगा ये उपाय

शनिदेव हो गए है मार्गी : साढ़े साती और ढैया वालों को अब करना होगा ये उपाय

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

नौ ग्रहों में सबसे धीमी चाल चलने वाले शनि देव अब आज से मार्गी हो गए है। शनि की चाल इसलिए भी मायने रखती है क्यूंकि ये सबसे धीमे ग्रह है।

चंद्रमा जहां एक राशि का गोचर ढाई दिन में पूरा करते है वही शनि देव को एक राशि में गोचर करने में ढाई साल लग जाते है। शनि देव मकर और कुम्भ राशि के स्वामी है जो की कर्म और लाभ को दर्शाती है।

इसलिए कहा जा सकता है की कर्म और लाभ के स्वाभाविक आधिपति शनि देव है। शनि देव जो पहले वक्री चाल चल रहे है अब वही वो मार्गी हो गए है ,ऐसे में जिन लोगों की ढैया और साढ़े साती चल रही है उन्हें राहत मिलने का अनुमान है।

शनि देव ने इसी साल की शुरुआत में अपनी खुद की राशि मकर में प्रवेश किया था।

मकर राशि शनि की सामान्य राशि है और गोचर में इस वक्त उनके ऊपर राहु का प्रभाव है ,राहु इस वक्त अपनी दृष्टि से शनि देव को देख रहे है जो की हाल ही में वृष राशि में आये है।

शनि देव के मार्गी होने से मिथुन, कन्या, कर्क, धनु और वृश्चिक राशि वालों को फायदा मिल सकता है। इसके अलावा मेष और वृष राशि के जातकों को कर्म में शुभ फल और आर्थिक वृद्धि के योग दिखाई दे रहे है।

इस समय कुंभ राशि के जातकों की भी साढ़े साती शुरु हुई है इसलिए शनि देव के मार्गी होने से उनको भी राहत मिलने का अनुमान है।

बता दे, धनु, मकर और कुंभ राशि के जातक इस वक्त साढ़े साती के प्रभाव में है वहीं मिथुन और तुला राशि के जातक की ढैया है।

इस दौरान इन राशियों के जातकों को कुछ उपायों को करके शनि के कुप्रभाव से बचना होगा। इस दौरान हर शनिवार को तेल में अपनी छाया देखकर तेल का दान करना चाहिए। इससे शनि देव के कुप्रभावों से मुक्ति मिलेगी।

‘ॐ शं शनैश्चराय नमः’ ये शनिदेव का मन्त्र है। अगर आप रोज सुबह जल्दी उठकर इस मन्त्र की एक माला करते है तो भी आपको शनि देव की कृपा प्राप्त होगी।

इसके अलावा शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए हनुमान जी की भी उपासना करनी चाहिए। शनि देव ने हनुमान जी को वचन दिया था की जो भी आपकी भक्ति करेगा उसे मैं परेशान नहीं करुँगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...