1. हिन्दी समाचार
  2. भाग्यफल
  3. नारद जयंती 9 मई को, जानिये नारद मुनि के जन्म की कथा

नारद जयंती 9 मई को, जानिये नारद मुनि के जन्म की कथा

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

हर साल वैशाख कृष्ण प्रतिपदा के दिन नारद जयंती मनाई जाती है और इस साल 9 मई को यह जन्मोत्सव मनाया जाएगा।

नारद मुनि को संसार का पहला पत्रकार भी कहा जाता है क्यूंकि उन्होंने संवादों के आदान-प्रदान द्वारा पत्रकारिता का प्रारंभ किया, नारद मुनि किसी भी लोक में जा सकते है।

नारद मुनि को देवताओं का संदेशवाहक कहा जाता है और यही कारण है कि देव लोक से लेकर पृथ्वी तक उनका बड़ा सम्मान होता है।

आपको बता दे, नारद मुनि को सृष्टि के रचयिता ब्रह्म जी ने मानस पुत्र के रूप में उत्पन्न किया था। ब्रह्रााजी का मानस पुत्र बनने के लिए उन्होंने पिछले जन्मों में कड़ी तपस्या की थी।

अगर नारद मुनि के आराध्या की बात करे तो क्षीर सागर में निवास करने वाले महाविष्णु उनके आराध्य है और वो सदैव नारायण नारायण जपते है।

नारद जी के एक हाथ में वीणा है और दूसरे में भजन करने के लिए वाद्य यंत्र है। नारद जी का मुनि का वेश है।

अगर मुहूर्त की बात करे तो प्रतिपदा तिथि 07 मई 2020 को शाम 4:15 बजे से प्रारंभ होगी और
08 मई 2020 दोपहर 1:02 बजे समाप्त होगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...