1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. जानिए कब है करवाचौथ और क्या है इसकी शुभ मुहूर्त, पांच साल बाद बन रहा यह शुभ संयोग

जानिए कब है करवाचौथ और क्या है इसकी शुभ मुहूर्त, पांच साल बाद बन रहा यह शुभ संयोग

करवा चौथ का व्रत सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र की कामना के लिए करती हैं। इस दिन महिलाएं रात में चांद देखने के बाद ही व्रत खोलती है। ये व्रत कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। बता दें की इस साल ये व्रत 24 अक्टूबर 2021 के दिन रविवार को पड़ रहा है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

नई दिल्ली : करवा चौथ का व्रत सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र की कामना के लिए करती हैं। इस दिन महिलाएं रात में चांद देखने के बाद ही व्रत खोलती है। ये व्रत कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। बता दें की इस साल ये व्रत 24 अक्टूबर 2021 के दिन रविवार को पड़ रहा है।

बन रहा शुभयोग: बता दें कि पांच साल बाद करवा चौथ रविवार को पड़ रहा है। एक बार पहले भी 8 अक्टूबर 2017 को रविवार के दिन ये व्रत पड़ा था, और इस साल भी 24 अक्टूबर 2021 को भी रविवार का दिन है। बता दें की रविवार का दिन सूर्य देव को समर्पित होता है। इस दिन महिलाएं सूर्य देव की पूजा करके अपने पति की लंबी आयू की कामना करती हैं।

शुभ मुहूर्त: रोहिणी नक्षत्र में चांद निकलेगा और पूजा होगी। कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि पर इस साल 24 अक्टूबर 2021को रविवार सुबहे 3 बजकर 1 मिनट पर शुरू होगी, जो अगले दिन 25 अक्टूबर को सुबह 5 बजकर 43 मिनट तक रहेगी। बता दें कि इस दिन चांद निकलने का समय 8 बजकर 11 मिनट पर है, और पूजा का शुभ मुहूर्त 24 अक्टूबर 2021 को शाम 06:55 से लेकर 08:51 तक रहेगा।

करवा चौथ व्रत की पूजा विधि

सबसे पहले सुबह सूर्योदय से पहले उठकर स्नान कर लें, इसके बाद सरगी के रूप में मिला हुआ भोजन करें। बता दें कि इसके बाद शाम तक न तो कुछ खाना और नहीं पानी पीना है, बाद में पूजा के लिए शाम के समय एक मिट्टी की वेदी पर सभी देवताओं की स्थापना कर और इसमें करवा रखें। इसके बाद एक थाली में धूप,दीप, चन्दन,रोली, सिन्दूर रखें और घी का दीपक जलाएं। इसके बाद चांद निकलने के एक घंटे पहले पूजा शुरु कर दें, और चांद के दर्शन करके व्रत खोलें।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...