Home उत्तर प्रदेश ‘मुगल नहीं, मुसलमानों का आदर्श है देश का संविधान – आजम खां

‘मुगल नहीं, मुसलमानों का आदर्श है देश का संविधान – आजम खां

1 second read
0
32

रामपुर के सैदनगर में पूर्व मंत्री आजम खां मुस्लिम नेताओं से अपील की है कि वह टीवी के टॉक शो में मुगलों को अपना आदर्श नहीं बताएं। ऐसे करके वह आरएसएस की मदद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुगल कभी भी मुसलमानों के आदर्श नहीं रहे हैं।
मुगलों ने मुसलमानों के लिए किया ही क्या है? मुगलों ने मदरसा, स्कूल, यूनिवर्सिटी और कारखाने नहीं बनवाएं। मुगलों ने किले बनवाएं, ताजमहल बनवाया, दरवाजे बनवाए। इससे मुसलमानों का क्या फायदा हुआ। आजम ने कहा कि आजादी के बाद हिन्दुस्तान मे रहने वाले मुसलमानों के आदर्श मुगल बादशाह नहीं, बल्कि देश का संविधान है।

आजम खां बृहस्पतिवार को सैदनगर के लालपुर में कोसी नदी पर पुल बनाने की मांग को लेकर धरने को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हमारे देश के प्रधानमंत्री दुनिया के सबसे महंगे कपड़े पहनने वाले व्यक्ति हैं।

Share Now
Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.