1. हिन्दी समाचार
  2. क्राइम
  3. टिकरी बॉर्डर पर किसान आंदोलन में एक और महिला हुई यौन शोषण का शिकार, युवा किसान नेताओं ने की घिनौनी हरकत

टिकरी बॉर्डर पर किसान आंदोलन में एक और महिला हुई यौन शोषण का शिकार, युवा किसान नेताओं ने की घिनौनी हरकत

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली: केंद्र सरकार द्वारा लाये गये तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ टिकरी बॉर्डर पर किसान आंदोलन में बंगाल की एक युवती से गैंगरेप की घटना सामने आई थी। जिसके बाद एक और महिला एक्टिविस्ट यौन शोषण का शिकार हो गई। मिली जानकारी के अनुसार, किसानों के बीच कोरोना को लेकर जागरूकता के कार्यक्रम के लिए बाहर से बुलाई गई एक्टिविस्ट के साथ युवा किसान नेताओं ने घिनौनी हरकत की, आरोप है कि शिकायत के बाद भी किसान नेताओं ने आरोपियों के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया।

एक वेबसाइट में छपी खबर की मानें तो, यौन शोषण की शिकार पीड़िता महिला कोरोना को लेकर टीकाकरण के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए बाहर से बुलाई गई थी। महिला ने एक डॉक्टर द्वारा संचालित एक संगठन के लोगों खिलाफ छेड़खानी और यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। आरोपी युवा किसान नेता बताये जा रहे हैं।

आपको बता दें कि संस्था बहादुरगढ़ बाईपास स्थित सेक्टर-9 स्थित पिंड कैलिफोर्निया नामक आंदोलनकारी किसानों के धरना स्थल पर एक अस्थायी अस्पताल चला रही है। पीड़ित महिला भी इस संगठन की वालंटियर थी। उसने आरोप लगाया कि उसने आयोजकों को इसके बारे में सूचित किया था लेकिन उन्होंने वालंटियरों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।

अप्रैल 2021 में बंगाल की एक 25 वर्षीय लड़की के साथ बलात्कार और मौत के मामले के बाद टिकरी बॉर्डर से यौन उत्पीड़न का यह दूसरा मामला सामने आया है। वेबसाइट ने दावा किया है कि किसान नेता समर्थन खोने के डर से आरोपी युवाओं के खिलाफ कार्रवाई करने से हिचक रहे हैं।

पुलिस ने पहले वाले मामले में मुख्य आरोपी अनिल मलिक को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने अनिल मलिक पर इनाम घोषित किया था। जबकि इस मामले के दो अन्य आरोपी अनूप चनौत और अंकुर सांगवान अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads