Home विचार पेज सरकार का कर्तव्य है कि सीमाओं की रक्षा करे, घुसपैठियों को रोके – अमित शाह

सरकार का कर्तव्य है कि सीमाओं की रक्षा करे, घुसपैठियों को रोके – अमित शाह

1 min read
0
43
amit-shah-tabled-citizenship-amendment-bill-in-loksabha

लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पर चर्चा हो रही है जिस पर गृह मंत्री अमित शाह जवाब दे रहे है, अपने जवाब में उन्होंने पूर्ववर्ती सरकारों पर कई गंभीर आरोप लगाए है वही अपनी पार्टी के वादे का जिक्र करते हुए उन्होंने बोला की हमे गर्व है की हम अपना वादा पूरा कर रहे है।

आगे उन्होंने बोला की कुछ लोग कह रहे हैं कि अल्पसंख्यकों को स्पेशल ट्रीटमेंट मिलनी चाहिए। मैं पूछता हूं कि क्या बांग्लादेश के अल्पसंख्यकों को स्पेशल ट्रीटमेंट नहीं मिलनी चाहिए? पाकिस्तान में रहने वाले अल्पसंख्यकों को स्पेशल ट्रीटमेंट नहीं मिलनी चाहिए?

उन्होंने बोला की किसी भी देश की सरकार का ये कर्तव्य है कि सीमाओं की रक्षा करे, घुसपैठियों को रोके, शरणार्थियों और घुसपैठियों की पहचान करे। कौन सा ऐसा देश है जिसने बाहर के लोगों को नागरिकता देने के लिए कानून न बनाया हो। हमने भी ऐसा कानून बनाया है। हमने एकल नागरिकता का प्रावधान किया है।

1947 में, सभी शरणार्थियों को भारत के संविधान द्वारा स्वीकार किया गया था। मनमोहन सिंह जी और लालकृष्ण आडवाणी जी भी इस समूह का हिस्सा हैं। उन्होंने भारत के विकास में योगदान दिया है। वे देश के प्रधानमंत्री और उपप्रधानमंत्री बने है क्योंकि देश ने उनको स्वीकारा और उनको नागरिकता प्रदान की।

आगे उन्होंने पूर्वोत्तर के राज्यों के निवासियों को भरोसा दिलाते हुए बोला की इस बिल से किसी को डरने की जरूरत नहीं है। उत्तर पूर्व की संस्कृति की रक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है। हम मणिपुर की घाटी की समस्या का समाधान करेंगे। इस बिल के तहत मणिपुर को इनर लाइन सिस्टम में लाएंगे।

Share Now
Load More In विचार पेज
Comments are closed.