1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कोरोना के बाद भारत में सामने आया एक और खतरनाक वायरस, डॉक्टरों ने किया अलर्ट, गाजियाबाद में मिला पहला मामला

कोरोना के बाद भारत में सामने आया एक और खतरनाक वायरस, डॉक्टरों ने किया अलर्ट, गाजियाबाद में मिला पहला मामला

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने न जानें कितने घरों को उजाड़ कर रख दिया, कितने लोगों की जान ले ली। वैज्ञानिकों ने पाया कि कोरोना के B.1.617.2 वेरिएंट के चलते मौतों की संख्या में बड़ी वृद्धि हुई है। दूसरी लहर जब पीक की तरफ थी उस वक्त पहले ब्लैक फंगस और फिर व्हाइट और यलो फंगस के भी कई मामले सामने आए। लेकिन अब राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से कुछ किलोमीटर दूर गाजियाबाद के एक अस्पताल में एक ऐसे वायरस का मामला सामने आया है, जिसका इलाज बेहद खर्चिला है।

आपको बता दें कि इस बीमारी का नाम हर्पीज सिम्प्लेक्स इंफेक्शन दिया गया है। डॉक्टरों ने इस नई बीमारी को काफी घातक करार दिया गया है। डॉक्टरों के मुताबिक कोविड से ठीक हुए मरीज जिनकी प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो गई है उनमें हर्पीज सिम्प्लेक्स वायरस के होने की संभावना सबसे ज्यादा होती है। इस बीमारी का इलाज काफी महंगा है, जिसे लेकर वैज्ञानिकों ने अलर्ट कर दिया है।

नाक में पाया गया वायरस

News 18 की रिपोर्ट के मुताबिक गाजियाबाद के डॉ बीपी त्यागी ने कहा कि भारत में हर्पीज सिम्प्लेक्स वायरस का पहला मामला मरीज की नाक में पाया गया। त्यागी ने वायरस को बेहद खतरनाक बताते हुए कहा है कि अगर इसके इलाज में देरी हुई तो यह वायरस, कोविड-19 से भी ज्यादा खतरनाक हो सकता है। त्यागी ने इस बात की भी जानकारी दी कि पहले मामले वाले मरीज का इलाज उनके अस्पताल में चल रहा है। उन्होंने इस बीमारी के खर्च की तरफ भी इशारा किया।

कोरोना के बाद बढ़ा गंभीर बीमारियों का खतरा

उन्होंने कहा कि दवाओं की उपलब्धता के चलते मरीज की सावधानीपूर्वक निगरानी की जा रही है। डॉक्टर ने उन लोगों से भी सतर्क रहने को कहा है जो कोरोना वायरस से उबर चुके हैं। क्योंकि कोरोना के चलते उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी कमजोर हो जाती है। ऐसे में इस तरह के मालमे उन्हें आसानी से घेर सकते हैं। देश में कोविड के बाद की कॉप्लीकेशन्स के मामले बढ़े हैं। कुछ लोगों में गंभीर लक्षण देखे जा रहे हैं, जिसमें सुनने या ब्लड क्लॉटिंग की समस्याएं भी सामने आ रही हैं। डॉक्टर्स को लगता है कि इस तरह की दुर्लभ दिक्कतों की वजह भारत में मिला नया वेरिएंट है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads