Home Breaking News सीरम इंस्टिट्यूट से AstraZeneca वैक्सीन की वापस ली जाएंगी 10 लाख डोज

सीरम इंस्टिट्यूट से AstraZeneca वैक्सीन की वापस ली जाएंगी 10 लाख डोज

5 second read
0
11

कोविड 19 यानी कोरोना वायरस के प्रकोप से हर कोई वाकिफ है, जिसकी वजह से देश में लगभग 10 महीने तक लगे लॉक डाउन से देश ने हर हालात देखे हैं वहीं देश के साथ साथ विदेशों में भी कोरोना के हालातों से वाकिफ हैं। लेकिन एक लम्बे रिसर्च के बाद कोरोना की वैक्सीन इजाद की गई और अब भारत के साथ साथ पड़ोसी मुल्कों में कोरोना की वैक्सीन लगाई जा रही है।

पड़ोसी मुल्कों में कोरोना की वैक्सीन लगाने के साथ साथ अब कोरोना के नए स्ट्रेन ने भी दस्तक दे दी है जिसको लेकर सभी देश सतर्क हैं और वैक्सीन के जरिए ही इस स्ट्रेन पर काबू पाने की बात कर रहे हैं।

दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के नए स्ट्रेन पर सीरम इंस्टिट्यूट से AstraZeneca वैक्सीन असरदार साबित नहीं हो रही है जिसके चलते दक्षिण अफ्रीका ने सीरम इंस्टिट्यूट से AstraZeneca वैक्सीन की 10 लाख डोज वापस लेने के लिए कहा है।                                                                                                                     दक्षिण अफ्रीका की एक रिपोर्ट में कहा गया है की कोरोना की नए स्ट्रेन पर Astra Zeneca की वैक्सीन सीमित असरदार पाई गई जिसके चलते दक्षिण अफ्रीका ने सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया से कोविड-19 की 10 लाख खुराकें वापस लेने के लिए कहा है। SII ने फरवरी में ये खुराकें भेजी थीं। एक हफ्ते पहले ही अफ्रीका ने कहा था कि AstraZeneca का उसके वैक्सिनेशन प्रोग्राम में इस्तेमाल फिलहाल रोक दिया जाएगा।

भारत ने एक हफ्ते पहले दक्षिण अफ्रीका को 10 लाख खुराकें भेजी थीं और अगले कुछ हफ्ते में 5 लाख खुराकें और भेजी जानी थीं।बतादें की दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है की सरकार AstraZeneca की कोरोना वायरस वैक्सीन की खुराकें बेच सकता है।

जहां एक क्लिनिकल ट्रायल में पाया गया था कि कोरोना वायरस के  वेरियंट का गंभीर बीमारी पर ज्यादा असर साबित नहीं हो रहा है और इसके बाद बैक्सिनेशन प्रोग्राम में इसके इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है।

Load More In Breaking News
Comments are closed.