Home उत्तर प्रदेश यूपी में 9 नवंबर के दिन एक भी अपराध की घटना नहीं हुई, पुलिस हुई हैरान !

यूपी में 9 नवंबर के दिन एक भी अपराध की घटना नहीं हुई, पुलिस हुई हैरान !

19 second read
0
49
yogi with up police

उत्तर प्रदेश में 9 नवंबर वाले दिन पहली बार ऐसा मौका आया जब उस दिन पूरे यूपी में एक भी ऐसी घटना नहीं हुई जिससे उस घटना को अपराध की श्रेणी में गिना जाए। दिन पूरे प्रदेश में एक भी हत्या, लूट, अपहरण, बलात्कार या डकैती की वारदात न हुई है। डीजीपी मुख्यालय के अधिकारियों को भी यकीन करना थोड़ा मुश्किल लग रहा था कि प्रदेश के 75 जिलों में एक भी घटना नहीं हुई है।

दरअसल, 9 नवंबर की सुबह 10 बजे सुप्रीम कोर्ट राम मंदिर पर आखरी फैसला सुनाने वाले थे जिसके चलते प्रदेश में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे, यूपी के डीजीपी से लेकर थाने और बीट स्तर पर पुलिस मुस्तैद हो गई थी और डीजीपी ओपी सिंह ने खुद मोर्चा संभाला। 

आईजी कानून व्यवस्था प्रवीण कुमार और सोशल मीडिया सेल के एसपी मो. इमरान पूरी रात डीजीपी मुख्यालय पर मौजूद रहे। उनके साथ सोशल मीडिया सेल में काम करने वाले तमाम पुलिस कर्मियों ने ‘साइबर पेट्रोलिंग’ शुरू कर दी।

प्रदेश के एकीकृत नियंत्रण कक्ष यूपी 112 पर रात में ही ‘इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर’ स्थापित कर दिए गए थे। एडीजी यूपी 112 असीम अरुण खुद इसकी निगरानी कर रहे थे। जोनवार स्थिति पर नियंत्रण के लिए डेस्क तैयार की गई और जिला स्तर पर रातों-रात इस तरह के नियंत्रण कक्ष स्थापित कर नजर रखी जाने लगी।

Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath meet the BJP President Amit Shah in the capital on Tuesday——————-The Statesman—————–Amarjeet Singh—————-21-03-17


प्रदेश में अपराध पर नियंत्रण और नजर रखने के लिए डीजीपी मुख्यालय में कंट्रोल रूम है। यहां हर दिन अपराध की स्थिति, घटनाओं में क्या कार्रवाई हुई और बीते 24 घंटे में कौन-कौन सी वारदात हुई, इसपर नजर रखी जाती है।

9 नवंबर की घटनाओं के लिए जब जोन स्तर से डीजीपी मुख्यालय ने आंकड़े जुटाने शुरू किए तो हर जोन से गंभीर अपराध के सभी मामले शून्य-शून्य आने लगे। डीजीपी मुख्यालय को एक बार तो इन आंकड़ों पर विश्वास नहीं हुआ और जिलों से चेक कराने के बाद दोबारा आंकड़े मांगे गए तो भी यही आंकड़ा आया। इससे सभी हैरत में थे।

फैसले वाले दिन सीएम योगी आदित्यनाथ खुद इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर की कार्य प्रणाली जानने यूपी 112 पहुंचे। इस पूरी कवायद का परिणाम रहा कि प्रदेश में उस दिन अपराध का आंकड़ा शून्य रहा।

Share Now
Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.